कहते हैं कि अगर हौंसले बुलंद हो तो कोई भी मंजिल मुश्किल नहीं है. गुरुग्राम के सनसिटी स्कूल की छात्रा अनुष्का पांडा ने कुछ ऐसा ही कर दिखाया है जिससे यह बात सच साबित होती है. मंगलवार को आए सीबीएसई की दसवीं क्लास के नतीजों में अनुष्का ने दिव्यांग कैटेगरी में पहला स्थान हासिल किया है. अनुष्का गुरुग्राम के सेक्टर 54 स्थित सनसिटी स्कूल की छात्रा हैं. अनुष्का पांडा ने दसवीं में 97.8 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं. अनुष्का को 500 में से 489 अंक प्राप्त हुए हैं. 14 साल अनुष्का लाइलाज बीमारी स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी (एसएमए) से ग्रसित हैं. खाली समय में अनुष्का शतरंज खेलना पसंद करती हैं और वह बड़ी होकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहती है.
यह एक आनुवंशिक रोग है, जो रीढ़ की हड्डी में मोटर न्यूरॉन नामक Nerves पर हमला करता है. ये कोशिकाएं व्यक्ति की मांसपेशियों (हाथों और पैरों) से संवाद करती हैं जिन्हें आप नियंत्रित कर सकते हैं. जब न्यूरॉन्स काफी घट जाते हैं तो मांसपेशियां अत्याधिक कमजोर हो जाती हैं. जिससे आपका चलना, उठना- बैठना, सांस लेने में काफी दिक्कत होती है. इससे खाना निगलने में मुश्किल होती है और सिर एवं गर्दन पर आपका नियंत्रण भी काफी हद तक प्रभावित होता हैं. सनसिटी स्कूल की प्रिंसिपल, रूपा चक्रवर्ति ने मीडिया को बताया कि अनुष्का की वजह से वह काफी गौरवांवित महसूस कर रहीं हैं, उन्होंने कहा कि अनुष्का हम सभी के लिए एक मिसाल है. उनका कहना है कि अनुष्का जैसी एकाग्रता सामान्य बच्चों में भी काफी मुश्किल से देखने को मिलती है. उन्होंने कहा, ‘यह बच्ची (अनुष्का) दृढ़ स्वभाव से परिपूर्ण है जिसने अपनी बीमारी और कमजोरी को कभी अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया.
बता दें कि CBSE 10th Result 2018 : सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन (CBSE) ने मंगलवार दोपहर करीब 1.30 बजे 10वीं कक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया. बोर्ड की तरफ से जारी की गई जानकारी के अनुसार 12वीं की ही तरह 10वीं में भी सबसे ज्यादा तिरुअनंतपुरम रीजन के 99.60 प्रतिशत छात्रों ने सफलता हासिल की. चेन्नई रीजन के 97.37 फीसदी छात्र-छात्राएं सफल होकर दूसरे नंबर पर रहे. सीबीएसई की दसवीं कक्षा के परिणाम में 2018 में चार स्टूडेंट 499 अंक प्राप्त कर संयुक्त रूप से टॉप रहे.
इस बार 10वीं की परीक्षा में कुल 16.38 लाख स्टूडेंट्स ने दसवीं बोर्ड की परीक्षा दी थी. नतीजे बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट (www.cbse.nic.in) पर चेक कर सकते हैं. आपको बता दें कि सीबीएसई की तरफ से 10वीं कक्षा की परीक्षाएं 5 मार्च से शुरू होकर 4 अप्रैल को खत्म हुई थी. इसमें से 9,67,325 लाख लड़के कैंडिडेट और 6,71,103 लड़कियां कैंडिडेट ने ये परीक्षा दी थी. देशभर के 4453 सेंटर्स में ये परीक्षा आयोजित की गई थी.

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *