भारतीय सेना ने म्यांमार बॉर्डर पर बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया है. बुधवार को भारतीय सेना ने म्यांमार के नगा इंसर्जेंट कैंप पर जवाबी कार्रवाई की. इस कार्रवाई में कई उग्रवादियों के मारे जाने और कैंप तबाह होने की खबर है. जहां इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया, वो जगह भारत-म्यांमार बॉर्डर से 10-15 किलोमीटर दूर है.
शुरुआती जानकारी के मुताबिक, भारतीय सेना ने इंडो-म्यांमार बॉर्डर के लंगखू गांव में सुबह 4:45 बजे ये जवाबी कार्रवाई की है. भारतीय सेना के ईस्टर्न कमांड ने यहां से नगा उग्रवादियों के कई कैंप बर्बाद किए.

भारत की इस कार्रवाई में कई आतंकियों के मरने की सूचना है, लेकिन आधिकारिक तौर पर अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है.
भारतीय सेना ने बेहद सुनियोजित तरीके से ऑपरेशन को अंजाम दिया. सूत्रों के मुताबिक, साढ़े तीन घंटे तक चले ऑपरेशन में कई कैंप नष्ट हुए हैं. भारतीय सेना के ईस्टर्न कमांड के मुताबिक, इस दौरान इंडो-म्यांमार बॉर्डर को क्रॉस नहीं किया गया.
सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है, लेकिन यह जरूर कहा कि भारत-म्यांमार सीमा पर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया. एनएससीएन (के) के कई उग्रवादी इस कार्रवाई में मारे गए हैं. भारतीय सेना के किसी भी जवान को नुकसान नहीं पहुंचा है.
बता दें कि म्यांमार में तीसरी बार ऐसी कार्रवाई की गई है. इसके पहले साल 2015 और 1995 में ऐसे ऑपरेशन को अंजाम दिया जा चुका है.
बता दें कि पिछले साल 28-29 सितंबर की दरमियानी रात को भारतीय सेना ने एलओसी पार करके आतंकी लॉन्च पैड पर हमले किए थे. इनमें पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को बहुत नुकसान हुआ था. सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक के लिए उरी हमले में नुकसान झेलने वाले यूनिटों के सैनिकों के इस्तेमाल का निर्णय किया.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *