केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि नए तथ्यों से यह स्थापित होता है कि राहुल गांधी और आर्म्स डीलर संजय भंडारी के बीच संबंध रहे हैं और अब राहुल खुद देश को बताएं कि उन्हें रक्षा सौदों में इतनी रुचि क्यों है? कांग्रेस ने ईरानी पर पलटवार करते हुए तमाम आरोपों को झूठा बताया.
भाजपा का आरोप है कि CBI, ED और आयकर विभाग के रडार पर आए आर्म्स डीलर संजय भंडारी के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के रिश्ते हैं और राहुल गांधी रॉबर्ट वाड्रा के पीछे छिप रहे हैं. वे जनता को खुद बताएं कि रक्षा सौदों में उनकी इतनी रुचि क्यों है और क्या चंद रुपयों के लिए या जमीन के लिए उन्होंने देश की सुरक्षा को ही शहीद करने का प्रयास किया?
स्मृति ईरानी ने कहा कि 70 सालों से संस्थागत भ्रष्टाचार कांग्रेस की देन रही है, लेकिन पिछले 24 घंटों में समाचार माध्यमों से जो तथ्य आए हैं वो दर्शाते हैं कि कैसे गांधी- वाड्रा परिवार ने पारिवारिक भ्रष्टाचार किया. एच एल पाहवा नाम के एक व्यक्ति के यहां ED की रेड में उसके पास से राहुल गांधी के साथ जमीन की खरीददारी से संबंधित लेनदेन के दस्तावेज मिले हैं. इससे स्पष्ट हुआ कि एच एल पाहवा के साथ राहुल गांधी के आर्थिक संबंध हैं.
एचएल पाहवा के पास जमीन की खरीद-फरोख्त के लिए पैसे भी नहीं थे, राहुल गांधी और श्रीमती वाड्रा के लिए जमीन खरीदने के लिए सीसी थंपी ने 50 करोड़ से ज्यादा रुपये दिए. उसी थम्पी का नाम UPA सरकर के दौरान पेट्रोलियम डील और दिल्ली-NCR में 280 करोड़ के जमीन की खरीदगी में सामने आया है. इन सौदों की जांच में पता लगता है कि- “जीजा जी के साथ साले साहब भी” पारिवारिक भ्रष्टाचार में शामिल हैं.
उन्होंने कहा कि उधर सीसी थम्पी और आर्म्स डीलर संजय भंडारी के बीच के संबंध जगजाहिर हैं और संजय भंडारी के रॉबर्ट वाड्रा से करीबी संबंध हैं, इसी भंडारी के खिलाफ डिफेंस डील को लेकर जांच भी चल रही है. जो नए तथ्य सामने आए हैं, उनसे स्थापित होता है कि राहुल गांधी और आर्म्स डीलर संजय भंडारी के बीच करीबी रिश्ते हैं. ऐसे में राष्ट्र यह मानता है कि राहुल गांधी रक्षा तैयारियों में एक अड़चन हैं. यह अड़चन राहुल की व्यक्तिगत राजनीति और उनके और उनके परिवार के आर्थिक हितों से उपजी है.
मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि भंडारी पर वाड्रा के लिए लंदन में संपत्ति खरीदने का आरोप है, जिसके तार प्रियंका और राहुल तक भी जाते हैं. UPA के कार्यकाल में हुई पेट्रोलियम डील और रक्षा सौदे में भंडारी के भूमिका की जांच सीबीआई और ED कर रही है. रिपोर्ट्स में जमीन खरीद से जुड़े एक मामले में राहुल गांधी और भंडारी का नाम भी जोड़ा गया है.
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी द्वारा लगाए गए आरोपों को ध्यान भटकाने वाला बताते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सभी आरोप मोदी जी की कल्पनाओं के समान झूठे हैं. यह मूल मुद्दों से लोगों का ध्यान हटाने का तरीका है. जहां तक हरियाणा में जमीन खरीदने की बात है तो उसका भुगतान राहुल गांधी ने अपने बैंक अकाउंट से किया है.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *