बंगाल के निकाय चुनाव में रायगंज, मिरिक, डोमकल, पुजाली पर तृणमूल और दार्जिलिंग, कलिंपोंग व कर्सियांग पर भाजपा-जीजेएम ने जीत दर्ज़ की है, इन क्षेत्रों में कांग्रेस का बुरी तरह सफाया हो गया है.
उत्तर बंगाल में किसी स्थानीय पार्टी को छोड़ कर किसी अन्य पार्टी ने जीत दर्ज की हो ऐसा 30 वर्षों में पहली बार हुआ है. कांग्रेस के कद्दावर नेता एवं प्रदेश अध्यक्ष अधीर चौधरी का गढ़ कहे जानेवाले मुर्शिदाबाद के डोमकल और कांग्रेस की पूर्व सांसद दीपा दासमुंशी के क्षेत्र माने जानेवाले रायगंज में भी तृणमूल ने एकतरफा जीत हासिल की.
उत्तर बंगाल के पहाड़ी क्षेत्र की मिरिक पालिका के नौ सदस्यीय बोर्ड में तृणमूल ने छह सीटें जीतीं, जबकि भाजपा व जीजेएम को महज तीन सीटें ही मिलीं. यहां कांग्रेस व इसके साझेदार वाममोरचा का सफाया हो गया है. तृणमूल की यह जीत बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है. कांग्रेस के दखल वाले रायगंज पालिका के 27 सदस्यीय बोर्ड में तृणमूल ने 24, कांग्रेस व वाममोरचा ने मात्र 2 एवं भाजपा ने एक सीट जीती. यही नहीं बल्कि चुनाव परिणाम की घोषणा के तुरंत बाद ही कांग्रेस व वाम मोरचा गठबंधन के टिकट पर चुनाव जीतनेवाले पार्षदों ने तृणमूल कांग्रेस का धामन थाम लिया.
पुजाली पालिका की 16 सीटों में से तृणमूल ने 12, कांग्रेस वाममोरचा ने एक एवं भाजपा ने दो सीटें जीतीं. वहीं डोमकल की 21 सीटों में से 20 पर तृणमूल और कांग्रेस-वाममोरचा एक सीट पर विजयी हुए हैं. दार्जिलिंग निगम की 32 में से 31 सीटों पर भाजपा-जीजेएम और एक सीट पर तृणमूल विजयी हुई है. दार्जिलिंग अंचल के कालिंपोंग पालिका के 23 सदस्यीय बोर्ड की 18 सीटों पर भाजपा-जीजेएम ने विजय हासिल की. तृणमूल यहां सिर्फ दो सीटें जीत सकी. कर्सियांग की 20 सदस्यीय सीटों पर तृणमूल को मात्र तीन सीटें मिलीं, यहां भी भाजपा व जीजेएम ने कब्जा किया है. कर्सियांग, कलिंपोंग एवं दार्जिलिंग में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला.
तनाव को देखते हुए सभी मतगणना स्थलों को किले में तब्दील कर दिया गया था. मतगणना केंद्र में सिर्फ उम्मीदवारों व उनके एजेंटों को ही प्रवेश करने की अनुमति थी. रविवार को हुए चुनाव के दिन भारी हिंसा हुई थी. कांग्रेस ने इस चुनाव में हुई हिंसा को देखते हुए कोर्ट से पूरे मतदान को निरस्त करने एवं फैसलों पर रोक लगाने की याचिका दायर की थी.

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *