नोटबंदी के बाद पुराने नोट जमा कराने की अंतिम तारीख समाप्त होने के 130 दिन पुलिस ने भूतनाथ रोड से 30 लाख रुपए (हजार व पांच सौ) के पुराने नोटों के साथ बिल्डर विनोद कुमार विश्वास व चार दलालों को गिरफ्तार किया है।
अगमकुआं थाने के भूतनाथ रोड के अमरनाथ मंदिर स्थित गणेश टावर अपार्टमेंट से गिरफ्तार हुए लोगों के पास से विभिन्न बैंकों के 13 ATM कार्ड मिले हैं। गिरफ्तार दलालों में भू माफिया अशोक कुमार सिंह भी शामिल है। NRI (अप्रवासी भारतीय ) के माध्यम से दलालों ने पुराने नोट को 40 प्रतिशत कमीशन पर खपाने की बात कबूल ली है। आयकर विभाग की टीम इनसे पूछताछ कर रही है।

SSP मनु महाराज ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि राजधानी के जाने-माने बिल्डर विनोद कुमार विश्वास व भू माफिया अशोक कुमार सिंह बड़े पैमाने पर पुराने नोट को खपाने के लिए विनोद के गणेश टावर अपार्टमेंट के फ्लैट संख्या 403 में जुटे हैं। सूचना मिलते ही अगमकुआं थानाध्यक्ष कामख्या प्रसाद सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने अपार्टमेंट में छापेमारी की। छापेमारी में बिल्डर बिनोद, भू-माफिया अशोक कुमार सिंह (आरा गार्डेन,जगदेव पथ) व दलाल शंकर सिंह (न्यू हरनीचक, अनीसाबाद), सुबोध कुमार (नखास, सोनपुर) व श्रवण तिवारी (पीसी कॉलोनी, कंकड़बाग ) दबोच लिए गए। शंकर सिंह सुधा डेयरी प्लांट में टेक्नीशियन व सुबोध कुमार गार्ड के रूप में तैनात है।
पकड़े गए दलालों ने बताया कि उनके संपर्क में कई NRI हैं, जिनके माध्यम से गिरोह के लोग पुराने नोट खपाने की जुगाड़ में थे। गिरोह के लोग पहले भी NRI के माध्यम से लाखों रुपए बदल चुके हैं। पूछताछ में इन लोगों ने कई NRI के नामों का भी खुलासा किया है। इसके अलावे अन्य माध्यमों से भी गिरोह के लोग पुराने नोट खपाते थे। गिरोह के तार झारखंड, कोलकाता, दिल्ली सहित कई राज्यों से जुड़े हुए हैं। पूछताछ में इन्होंने बताया कि पुराने नोट 40 प्रतिशत की कमीशन पर बदलते थे।

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *