टीम इंडिया के साथ ही इसके कप्तान और अस्थायी कप्तान के लिए बहुत खास रहा है. विराट कोहली जहाँ टेस्ट और वनडे के टॉप स्कोरर रहे, वहीं रोहित शर्मा ने टेस्ट, वनडे और टी-20 मिलाकर लगातार दूसरे साल सबसे ज्यादा छक्के लगाए.
विराट ने इस साल टेस्ट में सबसे ज्यादा 1322 रन बनाए, जबकि श्रीलंका के कुशल मेंडिस 962 रन के साथ दूसरे नंबर पर रहे और इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने तीसरे नंबर पर 948 रन बनाए. चौथे नंबर पर 837 रन बनाकर टीम इंडिया के चेतेश्वर पुजारा रहे और इंग्लैंड के जोस बटलर 760 रन के साथ पांचवें नंबर पर रहे.
वनडे में भी कप्तान कोहली 1202 रन के साथ टॉप स्कोरर रहे और दूसरे नंबर पर रोहित शर्मा ने 1030 रन बनाए. इंग्लैंड के जॉनी बेयरस्टो 1025 रन बनाकर तीसरे, जो रूट 946 रन बनाकर चौथे, जिम्बाब्वे के ब्रैंडन टेलर 898 रन के साथ पांचवें और उनसे एक कम 897 रन बनाने वाले शिखर धवन छठवें नंबर पर हैं.
रोहित ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार दूसरे साल सबसे ज्यादा 74 छक्के लगाए, वो पिछले साल भी 65 छक्के साथ टॉप पर थे. 2016 में न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल ने 54, 2015 में दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स ने 63 और 2014 में न्यूजीलैंड के विकेटकीपर ब्रैंडन मैकुलम ने सबसे ज्यादा 55 छक्के लगाए थे.
रोहित ने टी-20 में इस साल सबसे ज्यादा दो शतक लगाए. आठ जुलाई को इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिस्टल में 100 रन नाबाद और छह नवंबर को वेस्टइंडीज के खिलाफ लखनऊ में 111 रन नाबाद बनाए थे. अंतरराष्ट्रीय टी-20 में सबसे ज्यादा चार शतक लगाने का रिकॉर्ड भी रोहित के ही नाम है.
दक्षिण अफ्रीका के कगिसो रबाडा ने इस साल टेस्ट में 50 विकेट के साथ टॉप पर रहे. दूसरे नंबर पर रहे श्रीलंका के दिलरुवान परेरा ने 52 और तीसरे पर ऑस्ट्रेलिया के नाथन लियोन 49 विकेट लिए. इस लिस्ट में भारत के जसप्रीत बुमराह 48 और मोहम्मद शमी 47 विकेट के साथ क्रमशः चौथे और पांचवें नंबर पर रहे.
स्पिनरों में अफगानिस्तान के राशिद खान इस साल वनडे में सबसे ज्यादा 48 विकेट लेकर टॉप पर रहे, कुलदीप यादव 45 विकेट के साथ दूसरे, इंग्लैंड के आदिल रशीद और मुजीब-उर-रहमान क्रमशः 42,37 विकेट से तीसरे- चौथे और पांचवें नंबर पर 30 विकेट लेकर जिम्बाब्वे के टेंडई चतारा रहे.
ऑस्ट्रेलिया के एरोन फिंच जुलाई में जिम्बाब्वे के खिलाफ 76 गेंद पर 172 रन की पारी खेल इस साल टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के हाइएस्ट स्कोरर रहे. इस साल टेस्ट में दो खिलाड़ियों ने दोहरे शतक लगाए. न्यूजीलैंड के टॉम लाथम 264 नाट आउट हाइएस्ट स्कोरर और बांग्लादेश के मुशफिकुर रहीम ने 219 नाट आउट की पारी खेली.


वैसे इस साल सबसे सफल टेस्ट टीम में इंग्लैंड रहा, हालांकि ICC टेस्ट रैंकिंग में टीम इंडिया टॉप पर रही. इंग्लैंड ने इस साल 13 में आठ टेस्ट जीते, वहीं भारतीय टीम 14 में से सात जीती और सात हारी. वनडे में भी टीम इंडिया नंबर वन पर रही, उसने इस साल 20 वनडे खेल 14 मैच में जीत हासिल की. टी-20 में पाकिस्तान सबसे ज्यादा सफल रहा, जिसने 19 में से 17 मैच में जीते.
टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली ने ICC के टेस्ट बल्लेबाजों की रैंकिंग में शीर्ष रहते हुए वर्ष 2018 को अलविदा किया. कोहली ने इस साल अगस्त में ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को पछाड़कर टेस्ट बल्लेबाजों की रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया था और वह 135 दिनों से न्‍यूजीलैंड के केन विलियमसन से 34 अंकों की बढ़त के साथ इस पर बरकरार हैं. इस साल विराट ने अपने करियर में सबसे अधिक 937 अंक हासिल किए थे.
टेस्ट गेंदबाजों की रैंकिंग में रबाडा इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन से छह अंक आगे हैं. वह शीर्ष स्थान पर पहुंचने वाले सबसे युवा गेंदबाज बने थे. उन्होंने इस साल 178 दिनों से शीर्ष स्थान पर कब्जा बरकरार रखा है. भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने अपने अच्छे प्रदर्शन से 28वें स्थान से छलांग लगाते हुए 12वां स्थान हासिल किया, उन्होंने मेलबर्न टेस्ट में कुल नौ विकेट हासिल किए थे जो किसी भारतीय तेज गेंदबाज द्वारा ऑस्ट्रेलिया में एक टेस्ट मैच में हासिल किए गए सबसे अधिक विकेट हैं.
चेतेश्वर पुजारा ने टेस्ट बल्लेबाजों की रैंकिंग में चौथा स्‍थान बरकरार रखा तो वहीं विकेटकीपर ऋषभ पंत ने दस स्थानों की छलांग लगाकर करियर की सबसे सर्वश्रेष्ठ 38वें स्थान पर पहुंच गए. मेलबर्न टेस्ट में पदार्पण करने वाले मयंक अग्रवाल ने अपने शानदार प्रदर्शन के साथ बल्लेबाजों की रैंकिंग में सीधे 67वां स्थान हासिल किया.



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *