गुजरात में कक्षा 12 की साइंस स्ट्रीम के परीक्षा परिणाम घोषित किए जा चुके हैं। इस परीक्षा में ऑटो ड्राइवर फारुखभाई की बेटी फरहाना ने 99.72 फीसदी अंक हासिल किए हैं। फरहाना कहती है कि ये कभी नहीं सोचना चाहिए कि आर्थिक हालत अच्छी नहीं है तो हम कुछ नहीं कर सकते, कठिन परिश्रम से सबकुछ संभव हो सकता है।
मेडिकल स्ट्रीम में फरहाना के इतने अंक लाने पर परिवार के खुशी से ठिकाना ना रहा लेकिन वित्तीय बाधाओं के कारण अब बेटी के भविष्य को लेकर सभी चिंता में हैं।अहमदाबाद के रायखंड इलाके में रहने वाले फारुखभाई महीने में करीब 8 से 10 हजार ही कमा पाते हैं। फारुखभाई ने 12वीं तक पढ़ाई की है जबकि उनकी पत्नी शमीम बवानी 10वीं तक शिक्षा प्राप्त हैं। परिवार के किसी सदस्य ने 12वीं से आगे पढ़ाई नहीं की है, चाहते थे कि बेटी परिवार की ऐसी सदस्य हो जो कक्षा 12 से आगे की पढ़ाई करे। परिवार ने फरहाना के सपने को पूरा करने के लिए बहुत मेहनत भी की।

फरहाना के परीक्षा में इतने हासिल करने पर मां कहती हैं कि हमें कोई खुशी नहीं है। हमारा परिवार खुश नहीं है क्योंकि NEET की अंग्रेजी में जो परीक्षा थी वो एकदम अलग थी, जबकि गुजराती भाषा की परीक्षा ज्यादा कठिन थी। हमारी अब सिर्फ एक ही प्रार्थना है कि सरकार गुजराती और अंग्रेजी माध्यम के परीक्षा परिणाम अलग-अलग घोषित करे, हो सकता है बेटी को कोई विकल्प मिल जाए।
मां आगे कहती हैं कि मेरी बेटी ने इस परीक्षा के इतर भविष्य में अन्य किसी विकल्प पर विचार ही नहीं किया था। उसने बहुत मेहनत की, चारों सेमेस्टर में अच्छे अंक हासिल किए। दो साल के लिए मेरी बेटी सोना और खाना दोनों भूल गई थी। उसने अपना सारा वक्त सिर्फ पढ़ाई में ही गुजारा। उसका बचपन से सिर्फ एक ही सपना था कि वो डॉक्टर बने।
NEET की परीक्षा अलग-अलग होने पर जमालपुर के एफडी हाई स्कूल में पढ़ने वाली फरहाना कहती है कि NEET का गुजराती भाषा का पेपर बेहद कठिन था जबकि अंग्रेजी भाषा में आया NEET का पेपर काफी सरल था। परीक्षा से पहले मुझे पूरा भरोसा था कि परीक्षा परिणाम बहुत अच्छा आएगा और मुझे मुफ्त में MBBS की सीट मिलेगी। मगर मेरी परीक्षा अच्छी नहीं गई, परीक्षा में नियम भी काफी कठिन थे। हमारे पिताजी ऑटोरिक्शा चलाते हैं, परिवार में आर्थिक समस्या रहने पर भी परिवार ने पढ़ाई से जुड़ी हर चीज मुझे मुहैया कराई, पूरा समर्थन किया।

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *