स्वीडन में बोले मोदी : हम कहीं भी रहें, भारतीय होने का गर्व हमें एक सूत्र में बांधता है

 86 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार देर रात स्वीडन में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हम चाहे किसी भी देश में रहें, कोई भी भाषा बोलें पर भारतीय होने का गर्व हमें एक सूत्र में बांधता है.
इस दौरान उनके साथ स्वीडन के प्रधानमंत्री स्टीफन लवेन भी थे. स्वीडन के PM ने भारतीय समुदाय के लोगों की स्वीडन के समाज को बनाने में भूमिका की तारीफ की. साथ ही लवेन ने कहा कि पीएम मोदी के निर्देशन में भारत विकास की सीढ़ियां चढ़ रहा है. शुरू में नमस्कार करते हुए उन्होंने कहा कि यह मेरा सबसे छोटा भाषण होने वाला है, क्योंकि मैं जानता हूं कि आप सब किसे सुनना चाहते हैं.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए अपने भाषण की शुरुआत स्वीडिश PM की तारीफ से की. मोदी ने कहा कि स्टीफन न केवल उन्हें लेने रात को एयरपोर्ट पहुंचे, बल्कि उन्हें होटल तक पहुंचाया भी. यह उनका नहीं स्वीडन में रह रहे भारतीयों तथा पुरे 125 करोड़ भारतीयों का सम्मान है. उन्होंने स्वीडन के PM के लिए लोगों से खड़े होकर तालियां भी बजवाई.
मोदी ने कहा कि हम चाहे किसी भी देश में रहें, कोई भी भाषा बोलें एक चीज है जो हमें एक सूत्र में बांधती है वह है भारतीय होने का गर्व. देश एक बड़े बदलाव से गुजर रहा है. चार सालों में हमने न्यू इंडिया के निर्माण के लिए भरसक प्रयास किया है. हमने 2022 तक संकल्प से सिद्धी का प्रण लिया है. हमने विश्व में भारत का सम्मान बढ़ाने में कोई कमी नहीं की.


मोदी ने कहा कि अफ्रीका हो या पैसिफिक क्षेत्र के छोटे देश, या फिर आसियान या यूरोप या एशिया, सभी आज भारत को एक विश्वसनीय साथी, एक भरोसेमंद मित्र के रूप में देख रहे हैं. हमारी टेक्नॉलोजी का लोहा पूरी दुनिया मान रही है. भारत का स्पेस प्रोग्राम दुनिया के टॉप फाइव एक्स्प्लोरेशन प्रोग्राम्स में से एक है. यह तकनीकी रूप से एडवांस्ड तो है ही कॉस्ट इफेक्टिव भी है. देश के भीतर हम तकनीक का इस्तेमाल सरकार और नागरिकों के बीच कनेक्शन स्थापित करने के लिए कर रहे हैं. आज एक आम आदमी सीधे सरकार से संवाद कर रहा है.
मोदी ने कहा कि सरकार के काम करने को लेकर जो तस्वीर आपके दिमाग में पहले थी वह अब बदल गई है. अब सरकारी दफ्तरों में फाइल रोककर रखने कल्चर नहीं है. बल्कि जो काम सालों से अटका पड़ा है उसे पूरा करने पर जोर है. आज भारत में बिजनेस करना आसान हो गया है. 42 रैंक की छलांग लगाकर भारत ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में पहली बार टॉप 100 में आया है.’
PM ने कहा कि उद्योग जगत जीएसटी को अपने जीवन का हिस्सा बना रहा है. देश के टैक्स बेस में अभूतपूर्व वृद्धि हो रही है और बिजनेसमैन टैक्स फ्री हो गए हैं. पिछले 4 वर्षों में हमारे द्वारा एक के बाद एक ऐसे कदम उठाए गए हैं, जिनसे भारत में दुनिया की आशा और विश्वास बढे हैं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *