स्वास्थ केंद्र रहता है बंद

 51 


नबीनगर प्रखंड के ग्राम टंडवा स्थित स्वास्थ उपकेन्द्र की हालत काफी दयनीय है. जबकि यह आठ पंचायतों का केंद्र बिंदु हैं. स्वास्थ उपकेन्द्र में न तो नर्स हैं और न ही डॉ0 उपलब्ध है. यंहा हमेशा ताला ही बंद रहता है और आसपास गंदगी का भंडार लगा रहता है. स्वास्थ केंद्र का अपना भवन भी अभी तक नही बना है, यह आज भी बुनकर केंद्र के भवन में चलता है. ग्रामीणों का कहना है कि इस उपकेन्द्र में कभी भी न तो डॉ0 उपलब्ध रहते हैं और न ही दवा उपलब्ध रहती है. यंहा से नबीनगर (7km) जाने के क्रम में सड़क पर 32 ब्रेकर के अलावे कई खतरनाक गड्ढे भी पड़ते हैं, जिससे सबसे ज्यादा कष्ट गर्भवती महिलाओं को होता है. टंडवा से नबीनगर की सात किलोमीटर दूरी को तय करने में लगभग चालीस मिनट का समय लगता है. ज्ञात है कि इसी रास्ते में 3 दिसबर 2013 को पूलिस जीप को नक्सलियों ने लैन्डमाइस लगाकर उड़ाया था, जिसमें टंडवा थानाध्यक्ष अजय कुमार एवम् 8 पूलिस कर्मी शहीद हुए थे. इसके वावजूद न तो प्रसाशन का ध्यान इस ओर गया और न ही जनप्रतिनिधियों ने इस ओर ध्यान दिया.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...