बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी 5 देश रत्न मार्ग स्थित अपने बंगले में शिफ्ट हो गए. सुमो ने बंगले की साज-सज्जा देखकर उसे सेवन स्टार होटल से भी बेहतर माना.
बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इस बंगले को बचाने के लिए हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक गुहार लगाई थी. सुप्रीम कोर्ट ने तेजस्वी को बंगला खाली करने का आदेश देने के साथ ही कोर्ट का वक्त बर्बाद करने के लिए पचास हजार रुपए जुर्माना भी लगाया था.
सुशील मोदी ने मंगलवार को उस बंगले में प्रवेश किया जो पहले उप मुख्यमंत्री के नाते तेजस्वी यादव को आवंटित था. सुशील मोदी ने बंगले की साज-सज्जा को देखकर उसे सेवन स्टार होटल से भी बेहतर बताते हुए कहा कि मैं इस बंगले में नहीं रहूँगा. मैं अपने राजेंद्र नगर स्थित पैतृक घर में ही पूर्ववत रहूँगा. उन्होंने कहा कि इस बंगले की साफ- सफाई और इसकी सुरक्षा अपने आप में एक समस्या है.
उन्होंने इस बंगले के इंटीरियर डेकोरेशन को देख कहा कि इस प्रकार की साज- सज्जा तो CM और PM के आवास में भी देखने को मुझे नहीं मिली. वो इस बंगले में लगे टाईल्स, फर्नीचर, बाथरूम में लगे एसेसरीज आदि को देख दंग रह गए. उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्रीजी से आग्रह करूंगा कि एक बार स्वयं इस बंगले का निरीक्षण करें और यही नहीं मैं तो चाहूँगा कि वो 1 अडे मार्ग की बजाये इसी में रहें. मोदी ने कहा कि कोई भी मंत्री इस बंगले में आने के बाद हक्का-बक्का हो जाएगा. हाँ मैं ऑफिस का भरपूर इस्तेमाल करूंगा.
सुशील मोदी का इस बंगले में प्रवेश सर्वोच्च न्यायालय के उस फैसले के बाद हुआ, जिसमें तेजस्वी यादव द्वारा विपक्ष के नेता के रूप में इस बंगले को उन्हें आवंटित करने की याचिका खारिज कर दी गयी थी. सुप्रीम कोर्ट ने तेजस्वी पर 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया. बिहार के वित्त मंत्री सुशील मोदी का अनुमान है कि इस बंगले की सजावट पर सरकार के कम से कम पांच करोड़ रुपये खर्च हुए होंगे. तेजस्वी यादव को इस बंगले से मोह हो गया होगा, पर उन्हें ऐसी शानो- शौकत से बचना चाहिए था.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *