विपक्ष के नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर घेरते हुए कहा कि नीतीश कुमार कहते हैं कि करप्शन से समझौता नहीं करेंगे, लेकिन भाजपा के सरकार में आने के बाद अब तक 36 घोटाले हो चुके हैं. करप्शन से समझौता नहीं करने वाले क्या यह बताएंगे कि सृजन घोटाले में अब तक क्या कार्रवाई हुई?
लोक संवाद कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा राजद और कांग्रेस पर भ्रष्टाचार को मुद्दे पर तीखा हमला बोलने के बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि नीतीश कुमार कहते हैं कि करप्शन से समझौता नहीं करेंगे, लेकिन भाजपा के सरकार में आने के बाद अब तक 36 घोटाले हो चुके हैं. खजानों की लूट हो रही है. सीएजी रिपोर्ट में हजारों करोड़ के घोटाले सामने आ चुके हैं. करप्शन से समझौता नहीं करने वाले क्या यह बताएंगे कि सृजन घोटाले में अब तक क्या कार्रवाई हुई?
तेजस्वी ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार कुर्सी पर बैठे रहने के लिए कुछ भी कर सकते हैं. नीतीश जवाब दें कि जिन कारणों से वे महागठबंधन छोड़ एनडीए में गए, क्या उसका समाधान हो गया. तेजस्वी ने पूछा कि नीतीश तो सब जानते थे, फिर भी लालू यादव के साथ हाथ क्यों मिलाया? वे यह बताएं कि पहले भाजपा से क्यों अलग हुए थे और दोबारा जनता को धोखा देकर भाजपा के साथ क्यों चले गए?
तेजस्वी ने मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि वे हर भाषण में बोलते थे कि मिट्टी में मिल जाऊंगा, लेकिन भाजपा के साथ दोबारा नहीं जाऊंगा. संघ मुक्त भारत बनाने की बात करते थे और अब संघ युक्त भारत बनाने के काम में लगे हैं. नीतीश कुमार का दोहरा चरित्र है जिसे जनता समझ चुकी है.
तेजस्वी ने कहा कि भाजपा ऐसी पार्टी है जिसके साथ अगर हाथ मिलाते हैं तो आप राजा हरिश्चंद्र बन जाएंगे और समझौता नहीं करेंगे तो भ्रष्टाचारी बन जाएंगे. नरेंद्र मोदी कहते थे कि नीतीश के डीएनए में खोट है, अब नीतीश भाजपा से मिल गए तो DNA ठीक हो गया क्या?



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *