शहीद की बेटी बोली- बनना चाहती हूं डॉक्टर, गौतम गंभीर ने दिया जवाब : बेटी तुम पढो, खर्च मैं उठाऊंगा

 105 

भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों के हमले में शहीद हुए सब इंस्पेक्टर अब्दुल राशिद की पांच साल की बेटी जोहरा की पढ़ाई का खर्च उठाने का फैसला किया है जिसके बाद जोहरा ने उनका शुक्रिया अदा किया है.
जोहरा ने कहा, शुक्रिया गौतम सर, मैं और मेरा परिवार आपके इस कदम से काफी खुश हैं. जोहरा ने मीडिया से बातचीत में गौतम गंभीर को अपने जीवन का लक्ष्य बताया कि वह बड़ी होकर डॉक्टर बनना चाहती है. आपको बता दें कि गंभीर ने मंगलवार को एक ट्वीट कर जोहरा की पढ़ाई का खर्च उठाने की बात कही थी.
जोहरा के इस ट्वीट के बाद गंभीर ने कहा, ”जोहरा बेटा मुझे शुक्रिया मत कहिए आप मेरी बेटी आजीन और अनेजा की तरह हो मैंने सुना कि आप डॉक्टर बनना चाहते हो. अब बस अपने पंख खोलकर अपने सपनों का पीछा करो.
गौरतलब है कि जोहरा के पिता अब्दुल राशिद की अनंतनाग जिले के मेहंदी कदल में 28 अगस्त को आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी. अपने पिता के पास रोते हुए जोहरा की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं, जिन्हें देख गौतम गंभीर भी पिघल गए.
गंभीर ने ट्वीट कर लिखा था, ‘‘जोहरा अपने आंसुओं को जमीन पर गिरने नहीं देना, क्योंकि मुझे लगता है कि धरती मां भी तुम्हारे दुख का भार उठा नहीं पाएगी. आपके शहीद पिता एएसआई अब्दुल राशिद को सलाम.’’

इसके बाद उन्होंने उन्होंने एक और ट्वीट किया, जिसमें लिखा- जोहरा, ”मैं लोरी गाकर तुम्हेंh सुला नहीं सकता, लेकिन मैं आपके सपनों को साकार करने में मदद करूंगा. आपकी शिक्षा के लिए ताउम्र मदद करूंगा. भारत की बेटी.”
आपको बता दें कि इससे पहले भी गंभीर ने अपनी संस्था गौतम गंभीर फाउंडेशन के जरिए इसी साल अप्रैल में हुए नक्सली हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के परिवारों की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया था.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *