विश्व को संकट से निकालने की क्षमता है भारत में : मोदी

 75 


‘भारत की बात, सबके साथ’ कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर निशान साधते हुए कहा कि भारत शांति में यकीन रखता है लेकिन हम आतंक का निर्यात करने वालों को बर्दाश्त नहीं करेंगे, उन्हें करारा जवाब देंगे.
लंदन के वेस्टमिंस्टर सेंट्रल हॉल में मोदी ने कहा कि बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई और बुजुर्गों को दवाई हमने इन तीन विषयों पर विशेष ध्यान दिया है. पूर्व में सरकारों ने ऐसा रवैया अपनाया जिसमें लोग सरकारों पर आश्रित हो गए, पर मेरा मूल सिद्धांत, शक्ति भर सहायता देने की है ताकि वो स्वयं अपने पैरों पर खड़ा हो सके. इसलिए हमने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना बनाई, अब तक 11 करोड़ लोगों ने मुद्रा योजना का लाभ उठाया है, पांच लाख करोड़ से ज्यादा रुपये लोगों के हाथ में पहुंचे हैं और लोन लेने वालों में 70 प्रतिशत महिलाएं हैं.
PM ने कहा कि किसान कल्याण के लिए हम एक इको-सिस्टम बना रहे हैं, यूरिया की नीम-कोटिंग कर यूरिया की उपलब्धता आसान की 2022 तक कृषि से होने वाली आय को दोगुनी करने के निश्चित लक्ष्य के साथ आगे बढ़ रहे हैं. अगर आपके पास स्पष्ट नीति और नेक इरादे हों, तो आप सर्वजन हिताय का काम कर सकते हैं. लोकतंत्र 5 साल के लिए दिया गया लेबर कॉन्ट्रैक्ट नहीं भागीदारी का काम है.
मोदी ने कहा कि मैं यह मानता हूं कि देश के विकास में सभी सरकारों का कुछ न कुछ योगदान रहा है, लेकिन विकास का लाभ देश के आखिरी व्यक्ति तक क्यों नहीं पहुंच रहा है? मुझे किताब पढकर गरीबी नहीं सीखनी पड़ी है. मैं पिछले दो दशक से रोज 1- 2 किलो गालियां खाता हूं, मैंने कभी लिखा था कि लोग मुझपर जो पत्थर फेंकते हैं मैं उनसे ही पथ बना लेता हूं.


मोदी ने कहा कि मेरे दिमाग में महात्मा गांधी का वह सपना बैठा हुआ है कि देश के विकास का लाभ देश के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे. महात्मा गांधी की एक बात को मैंने मंत्र के रूप में लिया है. उन्होंने आजादी की लड़ाई को जनआंदोलन बना दिया था, मैं विकास को जन आंदोलन बना देना चाहता हूं. आजादी के बाद एक माहौल बन गया कि विकास का काम सरकार करेगी. जनता को ज्यादा से ज्यादा जोड़ने की जरूरत है, देश को अपना समझकर काम करने की है. मेरी अपील के बाद देश के सवा करोड़ लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ दी. टॉयलेट बनाने के काम से जनता जुड़ी और ये काम हो गया. रेलवे रिजर्वेशन में 40 लाख लोगों ने सीनियर सिटीजन को मिलने वाली सब्सिडी की सुविधा छोड़ दी और वे पूरी टिकट लेकर जाते हैं.
PM ने कहा कि आज सवा सौ करोड़ देशवासियों के दिल में असीम इच्छाएं हैं, हमें खुशी है कि लोग हमसे ज्यादा की अपेक्षा कर रहे हैं. जिस देश में सर्वोच्च पद सिर्फ एक परिवार तक ही सीमित था, सवा सौ भारतीयों के संकल्प ने एक चाय बेचने वाले को देश के सर्वोच्च पद पर बैठा दिया. नोटबंदी के वक्त 86 फीसदी करेंसी कारोबारी व्यवस्था से गायब हो गयी लेकिन मेरे देश का सामान्य आदमी ईमानदारी के लिए कष्ट झेलने को तैयार रहा. ये है भारत के लोगों की ताकत.
मोदी ने कहा कि मेरी विदेशनीति की समझ को लेकर बड़ी आलोचना होती थी. कहा जाता था कि मोदी विदेश नीति तो समझ नहीं पाएगा, देश का भट्टा बैठा देगा. कौन सा दवाब था कि 70 साल तक भारत का प्रधानमंत्री इज़रायल न जाए. 23 साल तक कोई UAE नहीं गया. हिंदुस्तान में दम होना चाहिए कि जब इजरायल जाना है तो जाऊंगा और जब फिलिस्तीन जाना हो तो वहां भी जाऊंगा. सऊदी अरब जाऊंगा और ईरान भी जाऊंगा. आज विश्व के सभी देशों के साथ हम बराबरी के साथ खड़े हैं. चार साल बाद इस पर कोई सवाल नहीं उठा सकता. मुझे विश्वास है कि मैं दुनिया को भारत का सच समझा सकता हूं. ये भारत का गर्व है कि प्रिंस चार्ल्स खुद भारत आए थे निमंत्रण देने के लिए कि आप कॉमनवेल्थ समिट में आएं. क्वीन ने मुझे पर्सनल चिट्ठी लिखी थी कि इस बार तो आप रहिए ही. पूरे विश्व में भारत का लोहा माना जाता है. आज आपके पासपोर्ट की ताकत बढ़ी है कि नहीं? इसका सबसे बड़ा कारण है सच को डंके की चोट पर बोलना.
फिल्म सेंसर बोर्ड के चेयरमैन, मशहूर गीतकार और कवि प्रसून जोशी ने कार्यक्रम का संचालन किया. प्रधानमंत्री ने जोशी सहित सेंट्रल हॉल में मौजूद कई लोगों के सवालों का जवाब देते हुए अपनी सरकार के कामकाज का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया. उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की छवि चमकाने में मेरा इंट्रेस्ट है. मेरा मकसद है भारत अजर-अमर रहे. मेरे देश के लिए दुनिया गर्व से कहे कि ये देश विश्व को संकट से निकालने की सामर्थ्य रखता है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *