विधानसभा विस्फोटक मामला: NIA ने अखिलेश के विधायक से की पूछताछ

 71 

उत्तर प्रदेश विधानसभा में सदन के भीतर विस्फोटक पदार्थ बरामद होने के बाद से स्थानीय खुफिया एजेंसियों और अधिकारियों की नींद उड़ी हुई है। ऐंटी टेररिस्ट स्क्वायड (एटीएस) के साथ नैशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की टीमें इस मामले की जांच करने में जुट गई हैं। एनआईए की टीम शुक्रवार देर रात विधानसभा पहुंची थी। एटीएस ने इस संबंध में शनिवार को एसपी विधायक मनोज पांडेय से पूछताछ की।
यूपी विधानसभा के अंदर खतरनाक विस्फोटक पीईटीएन आखिर आया कैसे, एटीएस इसकी जांच में जुटी है। इसी सिलसिले में एटीएस ने पूर्व मंत्री मनोज पांडेय से दिलकुशा स्थित उनके आवास पर पूछताछ की। दरअसल जिस दिन विस्फोटक मिला था उस दिन वह उसी के पास सीट नंबर 80 पर बैठे थे। अब एटीएस सोमवार को कन्नौज के एसपी अनिल दोहरे से पूछताछ करेगी। दोहरे की सीट भी विधानसभा में उसी जगह थी जहां पर विस्फोटक मिला था।

विधायक मनोज पांडेय से एटीएस के सीओ ने पूछताछ की, जिसमें उन्होंने बताया कि सदन में वह विस्फोटक नहीं लाए थे। इस संबंध में चार और विधायकों से साथ-साथ दो मार्शल्स से भी पूछताछ की जा सकती है। उनकी पहचान कर ली गई है।
विधान भवन में विस्फोटक मिलने का मामला लखनऊ के हजरतगंज में स्थित कोतवाली में शुक्रवार शाम को दर्ज कराया गया है। एसएसपी दीपक कुमार के साथ विधानसभा के मार्शल मनीष चंद्र राय ने विस्फोटक पदार्थ मिलने के मामले में तहरीर दी है। इससे पहले एसएसपी ने विधानसभा के चीफ मार्शल मनीष चंद्र राय के साथ विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण किया।
विस्फोटक की बरामदगी के मामले में मार्शल की तरफ से तहरीर पर मामला दर्ज किया गया है। कोतवाली में धारा 16,18, 20 के तहत मामला दर्ज हुआ है। साथ ही इस मामले में धारा 121ए और 120बी के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। विस्फोटक पदार्थ अधिनियम की धारा 4,5,6 भी लगाई गई है।
हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *