बोइंग 777 विमान उड़ाने वाली दुनिया की सबसे युवा महिला कमांडर अन्नी दिव्या की मेहनत और लगन ने उन्हें इस मुकाम तक पहुंचाया है, इस लक्ष्य को हासिल करना इतना आसान भी नहीं था।
दुनिया की इस यंगेस्ट महिला कमांडर का जन्म पठानकोट में हुआ, यह बचपन से ही पायलट बनना चाहती थीं। इस बात के लिए सभी उनका मजाक उड़ाया करते थे। शुरूआती लम्बे संघर्ष के बाद ही वो अपने सपने को अमली जामा पहना पायीं हैं।
दिव्या की स्कूल की पढ़ाई विजयवाड़ा में ही हुई। वो बचपन से ही पायलट बनना चाहती थीं और इस बात के लिए सभी उनका मजाक उड़ाया करते थे। उनके माता-पिता काफी सपोर्टिव और प्रोग्रेसिव सोच के थे। उनकी मां उनका हमेशा हौसला बढ़ाती थीं, लेकिन उनके रिश्तेदार और दोस्त हमेशा उनके पायलट बनने के लिए मना करते थे।
दिव्या के पिता आर्मी में थे और पठानकोट में पोस्टेड थे। वॉलंटरी रिटायरमेंट के बाद उनका परिवार विजयवाड़ा बस गया था। दिव्या एक साधारण परिवार से आती हैं और इनका परिवार फाइनेंशियल प्रॉब्लम्स का सामना करता रहता था। दिव्या पर उस समय इंजीनियर या डॉक्टर बनने के लिए दबाव बनाया जाता था।


बारहवीं के बाद जब वो 17 साल की थीं, उत्तर प्रदेश के फ्लाइंग स्कूल इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी में उनका एडमिशन हो गया। तब उनके पिता ने फ्लाइंग स्कूल में एडमिशन और पढ़ाई के अन्य खर्चों के लिए कर्ज लिया था।
दिव्या तब इंग्लिश पढ़- लिख तो लेती थीं, मगर इंग्लिश में बोलना उनके लिए एक कठिन चुनौती थी। दिव्या की खराब अंग्रेजी का लोग मजाक उड़ाया करते थे और ये बात उन्हें काफी हर्ट करती थीं। कई बार अकादमी छोड़ने और घर जाने का मन करने लगता, मगर उन्होंने ऐसा नहीं किया। एक छोटे से शहर से निकलकर एक बड़े शहर के माहौल में आना उनके लिए काफी भारी था। उन्हें इग्लिश में बोलने और उस माहौल में एडजस्ट करने में बहुत कठिनाई हुई।
दिव्या ने 19 साल की उम्र में अपनी ट्रेनिंग पूरी की और ट्रेनिंग खत्म होने के तुरंत बाद उन्हें एयर इंडिया में नौकरी मिल गई। इसी दौरान वे पहली बार विदेश गईं, उन्हें ट्रेनिंग के लिए स्पेन भी भेजा गया। वापस लौटने के बाद उन्हें बोइंग 737 उड़ाने का मौका मिला। जब वे 21 साल की हुईं उन्हें ट्रेनिंग के लिए लंदन भेजा गया और यही वह समय था, जब उन्होंने बोइंग 777 उड़ाना शुरू किया।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *