लोकतंत्र के महापर्व चुनाव में लोगों को मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु लोक कलाकारों ने अभियान चलाया । कंकड़बाग के मलाहीपकड़ी स्थित तारा इंस्टिट्यूट ऑफ लर्निंग में आयोजित कार्यक्रम में लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने मतदान को महादान बताते हुए गीत प्रस्तुत किया कि- “लोकतंत्र का महापर्व है,मिलकर सभी मनाते हैं, देश की खातिर चलिए, हम सब अपना वोट गिराते हैं।” चुनाव आयोग द्वारा मतदाता जागरूकता कार्यक्रम की आइकन बनाई गई डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने लोकतंत्र में वोट को सबसे बड़ी ताकत बताते हुए “जिसे चाहे उसी को चुनिए, वोट देना कभी न भूलिए” गीत पेश किया। इसे काफी सराहना मिली। उन्होंने अपने अगले लोकगीत के माध्यम से उपस्थित श्रोताओं से अपील की- “जात पर, ना पात पर ना किसी की बात पर, स्वच्छ मतदान कीजिए, मन में शपथ लीजिए ।” वरिष्ठ लोक गायक भरत सिंह भारती ने इस अवसर पर कहा कि देश और समाज के संवेदनशील मुद्दों पर लोगों की जागरूकता में लोक कलाकारों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है । उन्होंने कहा कि संगीत के माध्यम से जो संदेश प्रसारित किया जाता है, वह लोगों के मानस पर देर तक टिका रहता है और लोग उस संदेश पर अमल करने का प्रयास करते हैं । चुनाव के दिन मतदान केंद्र पर जाकर हम सबको राष्ट्र के महा त्यौहार में अपनी हिस्सेदारी निभानी है।
लोक गायिका किरण कुमारी ने इस अवसर पर “पायलिया हे मैया झुनूर झुनूर बाजे” के साथ- साथ बिहार के कई पारंपरिक लोक गीतों को पेश किया ।

loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *