गंगा यात्रा पर निकलीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने PM मोदी को निशाने पर लेते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की मर्जी वो अपने नाम के आगे क्या लगाएं, मुझे एक भाई ने कहा कि “देखिए चौकीदार तो अमीरों के होते हैं, हम किसान अपने खुद के चौकीदार होते हैं”.
प्रियंका ने कहा कि पिछले 45 साल में उतने कम रोजगार नहीं हुए, जितने इन 5 सालों में हुए. उन्होंने कहा कि जब भी आप वोट दीजिए, सोच समझकर वोट दीजिएगा. हम गलत वादे नहीं करते हैं. प्रियंका गांधी प्रयागराज से वाराणसी की नौका यात्रा पर हैं, जिसे उन्होंने गंगा जमुनी तहजीब यात्रा का नाम दिया है. प्रियंका ने कहा कि गंगा इस देश की संस्कृति और परंपरा है. वह किसी के बीच भेदभाव नहीं करती.
प्रियंका ने कहा कि भाजपा लगातार नेगेटिव राजनीति कर सकती है, लेकिन हम किसी को परेशान नहीं करना चाहते. हमारा उद्देश्य BJP को हराना है. लोग देशभक्ति की बात करते हैं, इससे बड़ी देशभक्ति कुछ नहीं हो सकती कि आप जागरूक बनें. प्रियंका गांधी ने कहा कि फिजूल का मुद्दा नहीं उठना चाहिए. सिर्फ देश और विकास की बात होनी चाहिए.
प्रयागराज में प्रियंका ने कहा कि आज देश का संविधान संकट में है, इसी वजह से मुझे घर से बाहर निकला पड़ा. मैं काफी वर्षों से घर में थी, लेकिन आज देश संकट में है. आज किसानों को फसलों का सही दाम नहीं मिल रहा है, पिछले पांच साल में देश में बेरोजगारी बढ़ी है. इस चुनाव में राहुल गांधी को मजबूत करने के लिए वोट दें.
मायावती के ट्वीट का जवाब देते हुए प्रियंका ने दो टूक कहा कि “हम किसी कन्फ्यूजन में नहीं हैं, हम भाजपा के खिलाफ लड़ रहे हैं.” उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने नई राजनीति की शुरुआत करने के लिए मुझे UP भेजा है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि किसानों के नहीं बल्कि अमीरों के चौकीदार होते हैं.
बोट यात्रा के दौरान दुमदुमा घाट पर उन्होंने आम लोगों से संवाद करते हुए कहा कि बीते कुछ समय में किसानों को काफी समस्या हुई है, आज देश में बेरोजगार घूम रहे हैं. किसानों की मदद के लिए कोई सामने नहीं आ रहा है. केंद्र सरकार ने अपने उद्योगपति दोस्तों को हजारों-करोड़ रुपये दे दिए.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *