उपभोक्ताओं की कम्प्यूटिंग और गतिशीलता की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए लेनोवो ने योगा बुक का अनावरण किया है, जो उपभोक्ताओं के अनुभव को पुनर्परिभाषित करने वाली परिपूर्ण लैपटॉप-टैबलेट है।

योगाबुक की कीमत 49,990 रुपये है, जिससे यह ऑनलाइन कंटेट निमार्ण और खपत के बीच बेहतरीन संतुलन साधता है। इसका नतीजा है कि यह नए हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर सुविधाओं के एक सूट के माध्यम से रचनात्मकता, उत्पादकता, गतिशीलता और मनोरंजन का एक सहज मिश्रण है।

डिस्प्ले        – 10.1 इंच फुल एचडी (1200×1920 पिक्सल)
प्रोसेसर       – क्वाड-कोर इंटेल एटम एक्स5-ज़ेड8550
रैम          – 4 जीबी एलपीडीडीआर3
इनबिल्ट स्टोरेज- 64 जीबी
एक्सटेंड मेमोरी- 128 जीबी तक
सिम सपोर्ट   – सिंगल नैनो सिम
कनेक्टिविटी   – 4जी एलटीई, वाई-फाई 802.11 एसी, ब्लूटूथ 4.0
ऑडियो      – डॉल्बी एटमॉस
कैमरा       – 8 MP ऑटोफोकस रियर कैमरा व 2 MP का फिक्स्ड फोकस कैमरा
बैटरी        –  8500 एमएएच
कीबोर्ड       – टचस्क्रीनन बैकलिट ‘स्लेट जैसा’

इसके फीचर्स में हालो कीबोर्ड, ड्यूअल यूज स्टाइलस जो कि कागज और स्क्रीन पर दोनों जगहों पर लिखने में सक्षम है और उत्पादकता आधारित बुक यूआई शामिल है। योगाबुक में इंटेल का एटम एक्स 5 क्वाड-कोर प्रोसेसर, 4 जीबी रैम, 64 जीबी रोम है और विंडोज 10 प्रो ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलता है।

योगाबुक दिखने में बेहतरीन है चाहे आप इसे कायार्लय लेकर जाएं या अपने लिविंग रूम में रखें। यह हर जगह शानदार दिखता है। इसे दुनिया का सबसे पतला 2 इन 1 लैपटॉप बताया गया है। इसका वजन सिर्फ 69० ग्राम है, चाहे तो आप इसे स्मार्टफोन की तरह पॉकेट में रख सकते हैं।

इसका 10.1 इंच, फुल एचडी आईपीएस डिस्प्ले जीवंत तस्वीरें दिखाता है जिसमें रंगों का बेहतरीन संगम है। योगाबुक एक स्टाइलस के साथ आता है, लेकिन यह सीधे स्क्रीन पर काम नहीं करता है, बल्कि यह नीचे पैड के साथ काम करता है।

यह डिवाइस लगातार कई सारे एप का इस्तेमाल करने पर भी गर्म नहीं होता है। इसमें सीमित पोर्ट्स हैं, लेकिन पयार्प्त हैं, जिनमें माइक्रो-यूएसबी, माइक्रो-एचडीएमआई और माइक्रो-एसडी पोर्ट्स शामिल हैं।

इसका इंटरनल स्टोरेज 64 जीबी है जिसे एसडी कार्ड लगाकर बढ़ाया जा सकता है। इसके स्पीकर से बेहतरीन आवाज निकलती है जो मल्टीमीडिया अनुभवों को बढ़ा देता है।

इसका 8,500 एमएएच का ली-आयन बैटरी जमकर वीडियो देखने और गेम खेलने के साथ लगभग 10 घंटे तक चलता है।

इसमें क्या कमियां हैं? : इसका ड्यूअल यूज स्टाइलस उनके लिए ज्यादा काम का नहीं है जो नियमित रूप से लिखने का काम नहीं करते, उनके लिए इसका कोई उपयोग नहीं है।

इसके कीपैड पर हेप्टिक वाइब्रेशन नहीं मिलता, जिससे यह सामान्य कीबोर्ड जितना जीवंत प्रतीत नहीं होता है। इस पर टाइप करना आईपैड पर टाइप करने जैसा है।

क्यों हैं उपयोगी : अगर आप कभी-कभी टाइप करते हैं, लेकिन उत्पादक काम के लिए और वीडियो, गेम आदि के लिए एक डिवाइस लेना चाहते हैं योगाबुक सही रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *