राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव पर चार लाख रूपये में 72 करोड़ रुपये की जमीन अपने बेटों और पत्नी राबड़ी देवी के नाम करा लेने का आरोप लगा हैl
भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने मीडिया में इस सन्दर्भ में कुछ कागजात मिडिया के सामने प्रस्तुत करते हुए लालू यादव को अपने आरोपों का खंडन करने की चुनौती तक दे डाली हैl साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव को बर्खास्त करने की मांग करते हुये पूछा कि मंत्रिमंडल के जिन सहयोगियों ने खुल्लमखुल्ला वित्तीय अनियमतिताएं की हैं, उन्हें वे क्यों बचा रहे हैं?
इन आरोपों पर लालू यादव की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है लेकिन राजद नेता एवं बिहार के वित्तमंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि लालू प्रसाद पर आरोप लगाना सुशील मोदी की आदत में शुमार हो गया है। मोदी के आरोप की विभाग जांच करेगा, राजद अध्यक्ष ने भी जांच से इनकार नहीं किया है।




रालोसपा (अरुण गुट) के प्रदेश अध्यक्ष विधायक ललन पासवान और प्रवक्ता मनोज लाल दास मनु ने मुख्य सचिव द्वारा इस मामले की जांच की घोषणा को महज छलावा और मुख्यमंत्री की चुप्पी को शर्मनाक बताते हुए मिट्टी घोटाले की न्यायिक जांच कराने की मांग की।
उधर संजय गांधी जैविक उद्यान को 90 लाख की मिट्टी गलत तरीके से बेचने के मामले की जांच कराने के लिए मणिभूषण प्रताप सेंगर अधिवक्ता ने पटना हाईकोर्ट में लोकहित याचिका दायर की है। इसमें पर्यावरण एवं वन विभाग के मंत्री व प्रधान सचिव, मुख्य सचिव, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष, संजय गांधी उद्यान के निदेशक, नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव, पटना नगर निगम के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी, पाटलिपुत्र औद्योगिक क्षेत्र के अध्यक्ष, पटना कमिश्नर, जिलाधिकारी तथा अनुमंडल पदाधिकारी को प्रतिवादी बनाया गया है।
इस बीच संजय गांधी उद्द्यान को मिट्टी बेचने के मामले की जांच राज्य के वन सचिव ने शुरू कर दी है और अपनी रिपोर्ट अगले कुछ दिनों में ही राज्य के मुख्य सचिव को सौंपेंगेl



loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *