बिहार सरकार ने अपने मंत्री तेज प्रताप यादव पर मिट्टी घोटाले के लगे आरोपों के जांच का आदेश दे दिया हैl बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने इस मामले की जांच के आदेश जारी करते हुए 7 दिन में रिपोर्ट की मांगकी है। भाजपा ने लालू प्रसाद यादव के बेटे और बिहार सरकार में मंत्री तेज प्रताप यादव पर मिट्टी घोटाले के आरोप लगाए थेl माना जा रहा है कि इससे तेजप्रताप यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैंl इस आदेश के बाद राजनैतिक विश्लेषकों के अनुसार बिहार सरकार के इस फैसले से महागठबंधन पर भी असर पड़ सकता हैl बिहार में महागठबंधन की सरकार है, जिसमें कांग्रेस के साथ ही राजद और जदयू साझीदार हैंl हालाकि जांच का आदेश जारी होने के बाद भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी का कहना है कि जांच महज दिखावा हैl मोदी ने ट्वीट करके कहा कि नीतीश कुमार में हिम्मत है तो सर्वदलीय समिति से जांच कराएं। बिहार के किस अधिकारी में हिम्मत है कि वो लालू के परिवार के खिलाफ जांच करे, सरकार ही गिर जाएगीl ज्ञातव्य है कि भाजपा नेता सुशील मोदी ने दावा किया था कि डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड में तेज प्रताप यादव, तेजस्वी यादव और चंदा यादव को 20 जून 2014 को निदेशक बनाया गया थाl इस कंपनी को 2 एकड़ जमीन हस्तांतरित की गईl इसी जमीन पर बिहार में एक बड़ा शापिंग मॉल बन रहा है जिसका निर्माण राजद के सुरसंड विधायक सैयद अबू दौजान की कंपनी कर रही हैl उन्होंने आरोप लगाया कि इस निर्माणधीन शापिंग मॉल का संबंध लालू प्रसाद के परिवार से है और उसके दो अंडरग्राउंड फ्लोर की मिट्टी संजय गांधी जैविक उद्यान को 90 लाख रूपये में बेची गई हैl
loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published.