लालू की हालत चिंताजनक, किडनी नहीं कर रही काम, इलाज के लिए भेजे जा सकते हैं बाहर

 211 


चारा घोटाला के चार मामलों के सजायाफ्ता और राजद सुप्रीमो व पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव की हालत ठीक नहीं हैं। उनकी तबीयत एक बार फिर से नासाज हो गई है। वे फि लहाल ठीक से चल भी नहीं पा रहे हैं। उनके पैरों में गहरा घाव और उपर तक सूजन हो गया है।
रांची के रिम्स में इलाजरत लालू की देखरेख कर रहे वरिष्‍ठ चिकित्सक डॉ उमेश प्रसाद ने शुक्रवार को दैनिक जागरण को बताया कि बीते तीन-चार दिनों में उनकी सेहत में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। वर्तमान में उनकी हालत चिंतनीय है। उनके पैर में घाव की वजह से परेशानी बढ़ी हुई है। किडनी फेल्यर की आशंका जताते हुए डॉक्‍टर ने कहा कि लालू का क्रिटनिन लेवल 1.85 पर पहुंच गया है। जो उनके गिरते स्‍वास्‍थ्‍य की ओर इशारा कर रहा है।
इधर लालू प्रसाद यादव की गिरती सेहत ने उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों की चिंता बढ़ा दी है। वे लालू का रिम्स में इलाज जारी रखने को लेकर दिन ब दिन असहज हाे रहे हैं। डॉक्टरों की मानें तो अगले दो-तीन दिन में लालू की सेहत नहीं सुधरी तो उन्हें इलाज के लिए रांची से बाहर किसी अच्‍छे अस्‍पताल में भेजे जाने पर विचार किया जा सकता है। जरूरत पड़ने पर जेल प्रशासन या राज्‍य सरकार से इसकी अनुशंसा की जाएगी।
रिम्स के पेइंग वार्ड में इलाजरत सजायाफ्ता लालू प्रसाद की हालत खराब हो गई है। उनके पैर में घाव हो गए हैं, जो लगातार एंटी-बायोटिक दिए जाने के बाद भी ठीक नहीं हो रहा है। जिसके कारण वह चल नहीं पा रहे हैं। दो-तीन दिन से स्थिति गंभीर है। उनकी किडनी में संक्रमण बढ़ गया है और वह ठीक तरीके से काम नहीं कर रही है। हालत स्थिर नहीं है और चिंताजनक है। यह जानकारी शुक्रवार को उनका इलाज कर रहे डॉ. उमेश प्रसाद ने दी। उन्होंने कहा कि अभी हम लोग वेट एंड वॉच की स्थिति में हैं। अगर स्थिति नहीं संभली, तो एक्शन मोड में आना होगा।
उन्होंने बताया कि क्रिटनिन बढ़कर 1.85 हो गया है, जो कि किडनी के सही तरीके से फंक्शन नहीं होने का सूचक है। डायबिटीज भी 190 तक पहुंच गया है। टोटल ब्लड काउंट 12100 हो गया है। यह शरीर में घातक संक्रमण को बताता है। यह काफी खतरनाक है। वहीं रक्तचाप सामान्य है।
दिवाली तक लालू प्रसाद की स्थिति कुछ हद तक ठीक थी। उन्होंने उस समय डॉक्टरों की सलाह पर मिठाई भी खायी थी। उस समय चिकित्सकों ने उन्हें स्वास्थ्य को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दी थी।
पिछले दिनों लालू प्रसाद से मिलने के लिए उनके बेटे तेजस्वी और तेज प्रताप यादव आए थे। उनकी बेटियां चंदा, रागिनी और अन्य भी आकर मिल चुकी हैं। सभी अपने पिता लालू प्रसाद के स्वास्थ्य को लेकर चिंता जता चुके हैं।
लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने अपनी पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय से तलाक को लेकर भी उनका तनाव बढ़ा दिया था। कुछ दिन पहले ही वे अपने पिता लालू प्रसाद से मिलने रांची के रिम्‍स पहुंचे थे। इस दौरान वे तलाक लेने पर अड़े रहे। लालू के लाख समझाने के बाद भी उन्‍होंने कहा कि वे पिता के जेल से निकलने का इंतजार नहीं करेंगे और हर हाल में तलाक लेकर रहेंगे। अपने परिवार पर ऐश्‍वर्या का सपोर्ट करने का आरोप लगाते हुए तेज प्रताप ने कहा था कि उनके परिवार ने उन्‍हें नकार दिया है। उन्‍होंने मर जाने और फांसी लगा लेने तक की बात कही थी।

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *