ये फौजी रोजदार है। मुसलमान है लेकिन उससे पहले ये देश का रक्षक है। जी हां, इस मुसलमान फौजी ने एक मिसाल कायम की है।
सेना की उत्तरी कमान में तैनात लेफ्टिनेंट सरफराज ने बॉर्डर पर 6 आतंकियों को मार गिराया। उनकी बहादुरी के चलते साथी जवानों को खरोंच तक नहीं आई क्योंकि जवानों पर हमला करने आए आतंकियों को उन्होंने मार गिराया। सरफराज सेना में पिछले कई सालों से हैं और उत्तरी कमान में उनकी तैनाती है

वहीं, भारतीय सेना ने शनिवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ की कई कोशिशों को नाकाम करते हुए बीते 96 घंटों के दौरान 13 आतंकवादियों को मार गिराया गया।
सेना के उत्तरी कमान के उधमपुर मुख्यालय ने एक बयान में कहा, “जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पार हथियारों से लैस घुसपैठियों के कई समूहों को दाखिल कराने की पाकिस्तानी सेना की कुटिल चाल को हमारे सक्रिय अभियानों द्वारा नाकाम किया जाना जारी है।”

बयान के मुताबिक, “जवानों द्वारा निरंतर अभियानों के दौरान नियंत्रण रेखा के गुरेज, माचिल, नौगाम और उड़ी सेक्टरों में घुसपैठियों के कई समूहों का सफलतापूर्वक पता लगाया गया, जिसके बाद 96 घंटों के दौरान 13 आतंकवादी मार गिराए गए।” बयान में कहा गया है कि उसमें चार और तीन घुसपैठियों के समूह भी शामिल हैं, जिन्हें माचिल और नौगाम सेक्टरों में आठ जून को खत्म किया गया था।
सेना के बयान के अनुसार, “तब से लेकर अब तक, गुरेज और उड़ी सेक्टरों में अभियानों में तेजी आई है। उड़ी सेक्टर में अब तक पांच सशस्त्र घुसपैठिए मार गिराए गए, जबकि एक घुसपैठिया गुरेज सेक्टर में मारा गया।”
बयान के मुताबिक, “मारे गए घुसपैठियों के पास से विस्फोटक, ज्वलनशील पदार्थ, हथियार और गोला-बारूद बरामद किए गए, जिससे संकेत मिलता है कि रमजान के पवित्र महीने में निर्दोष लोगों और सुरक्षा बलों को निशाना बनाने की साजिश में पाकिस्तान शामिल है।”

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें


loading…

Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *