कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला करते हुए मंगलवार को उन्हें ‘कमजोर प्रधानमंत्री’ की संज्ञा दी। राहुल ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “भारत को एक कमजोर प्रधानमंत्री मिला है।” राहुल ने अपने ट्वीट के साथ उनके हालिया अमेरिका दौरे से संबंधित दो खबरें भी अटैच की हैं। इनमें से एक खबर में कहा गया है कि मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ वार्ता के दौरान एच1बी वीजा का मामला नहीं उठाया। वहीं दूसरी खबर अमेरिकी विदेश मंत्रालय द्वारा कश्मीर को ‘भारत प्रशासित कश्मीर’ कहे जाने को भारत द्वारा स्वीकार किए जाने से संबंधित है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के नेता सैयद सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने वाले आदेश में कश्मीर को ‘भारत प्रशासित कश्मीर’ कहा था। इन्‍हीं दोनों खबरों के साथ राहुल गांधी ने कैप्‍शन में लिखा, ‘India has a weak PM’ (भारत के पास एक कमजोर प्रधानमंत्री है।) कांग्रेस इन दोनों मुद्दों को लेकर पिछले सप्‍ताह से ही हमलावर थी। राहुल गांधी के बयान से विरोध और तीखा होने के आसार हैं।

डोनाल्‍ड ट्रंप प्रशासन ने अमेरिकी वीजा का दुरुपयोग रोकने के लिए वीजा जारी करने की प्रक्रिया को और कड़ा कर दिया था। एच-1बी वीजा की भारतीय आई कंप‍नियों व प्रोफेशनल्‍स के बीच भारी मांग हैं। इसके तहत किसी सामान्य कम्प्यूटर प्रोग्रामर को अब विशेषज्ञता-प्राप्त पेशेवर नहीं माना जाएगा जो एच1बी कार्य वीजा के मामले में एक अनिवार्य शर्त है। भारत की सात आईटी कंपनियों को 2016 में अमेरिका में इससे पिछले साल 2015 की तुलना में एच-1बी वीजा में 37 प्रतिशत की गिरावट आई है।
दूसरी खबर, जिसके आधार पर राहुल ने मोदी को ‘कमजोर प्रधानमंत्री’ कहा है, वह भी अमेरिका से ही जुड़ी हुई है। दरअसल, अमेरिकी राष्‍ट्रपति से मोदी की मुलाकात के कुछ घंटे पहले ही अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन को ‘विशेष वैश्विक आतंकी’ घोषित किया था। हालांकि जो बयान अमेरिका ने जारी किया, उसमें कहा गया था कि आतंकी संगठन (हिजबुल) ने ‘भारत अधिकृत जम्‍मू-कश्‍मीर’ में कई आतंकी हमले किए, जिनमें अप्रैल 2014 के धमाके भी शामिल हैं। इसी वाक्‍यांश पर कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था, ज‍बकि विदेश मंत्रालय का कहना था कि बयानों में ऐसा पहले भी कहा जाता रहा है, इसे तूल देने की जरूरत नहीं है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *