राहुल गाँधी बिना कागज देखे 15 मिनट बोलकर दिखाएं : मोदी

 134 



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक चुनाव में भाजपा की हवा नहीं आंधी चलने का दावा करते हुए कहा कि आपकी (कर्नाटकवासियों) तपस्‍या बेकार नहीं जाएगी. राहुल गाँधी के 15 मिनट बोलने का मौका देने वाले बयान पर मोदी ने कहा कि वह नामदार हैं और हम कामदारों की क्‍या हैसियत. हम तो अच्‍छे कपड़े भी नहीं पहन सकते तो आपके साथ कहां बैठ सकते हैं.
कर्नाटक के चामराजनगर जिले के सांथेमरहल्ली में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने राहुल गांधी ने हमला बोलते हुए कहा कि मनमोहन सिंह ने कहा था हर गांव में बिजली पहुंचाएंगें लेकिन आपकी माता जी ने एक कदम आगे जाकर 2009 तक हर घर में बिजली पहुंचाने का वादा किया था लेकिन अपना वादा पूरा क्‍यों नहीं कर सके. जिन गांव ने बिजली नहीं देखी उन गांवों में बिजली पहुंचाने का काम हमारी सरकार ने किया.
PM ने कहा कि बिजली हमारे मजदूरों के मेहनत से पहुंची हैं. 28 अप्रैल को बना इतिहास जब मणिपुर का एक गांव आखिरी गांव बना जहां बिजली पहुंचाने का काम पूरा हुआ. आजादी के 70 साल बाद भी चार करोड़ घरों को बिजली नहीं मिली. हमने सौभाग्‍य योजना के तहत इन घरों को बिजली पहुंचायी. कर्नाटक में 2014 तक 39 गांव ऐसे थे, जहां पर बिजली नहीं थी, वहां बीजेपी ने अब बिजली पहुंचाई है. केंद्र सरकार का ध्यान किसानों की हर जरूरतों पर है.
PM ने कहा कि नोटबंदी के बाद लोगों के घर से पैसों की गड्डी निकली थी ये कामगारों का पैसा था जो उन्‍होंने दबा रखा था. राहुल अति उत्‍साह में मर्यादा तोड़ते हैं, उन्‍होंने मनमोहन सिंह का अनादर किया. यहां न तो लॉ है और ना ऑर्डर है. इतना ही नहीं लोकायुक्‍त भी सलामत नहीं है. क्योंकि जहां-जहां कांग्रेस होती है वहां-वहां भ्रष्‍टाचार और भाई भतीजावाद होता है.


भाजपा के मुख्‍यमंत्री पद के उम्‍मीदवार बी एस येदियुरप्‍पा ने इससे पहले बोलते हुए कहा कि कई लोग कह रहे हैं कि BJP JDSके साथ गठबंधन करने जा रही है, मैं आपको ये साफ कर देना चाहता हूं कि हम अकेले सरकार बनाएंगे. PM अगले कुछ दिनों में यहां 15 रैलियां करेंगे. आज एक के बाद एक लगातार तीन रैलियां हैं. एक मध्य कर्नाटक में, दूसरी दक्षिणी एवं तीसरी हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र में.
PM के संबोधन में कांग्रेस और राहुल गाँधी विशेष रूप से निशाने पर रहे. राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष अपने परम पूज्य माताजी (सोनिया गांधी) की बात तक नहीं मानते हैं. कांग्रेस के नए अध्यक्ष अति-उत्साह में मर्यादा तोड़ देते हैं. राहुल गांधी पहले मजदूरों का मजाक उड़ाते थे, उनकी बेइज्जती करते थे. राहुल गांधी ने मुझे चुनौती दी थी कि संसद में वह जब बोलेंगे तो मैं 15 मिनट वहां बैठ नहीं पाउंगा. राहुल किसी भी भाषा में 15 मिनट बिना कागज के बोलकर दिखाएं. 15 मिनट तक बिना कागज लिए कर्नाटक सरकार की ही सफलता बताइए.
मोदी ने कहा कि पिछले 5 सालों में कर्नाटक में कानून का बुरा हाल हुआ, यहाँ कोई व्यक्ति सुरक्षित नहीं है. कर्नाटक में जब लोकायुक्त सुरक्षित नहीं तो एक आम इंसान की क्य़ा बात है? वंशवाद की राजनीति ने देश और लोकतंत्र दोनों को बर्बाद करके रखा हुआ है, कांग्रेस ने इस बार भी मंत्रियों के बेटों को रण में उतारा है. उन्होंने कहा कि मैं जनता हूँ कि आपका फैसला भ्रष्टाचारियों को सजा दिलाने के लिए होगा.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *