राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन में राजद विधायकों का हंगामा, किया वहिष्कार

 66 


पटना में आयोजित छठे राष्ट्रमंडल संसदीय सम्मेलन में राजद के विधायकों ने हंगामा किया। हंगामा शांत करने के लिए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कोशिश की, लेकिन कोई उनकी बात सुनने को तैयार न था। हंगामा उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के भाषण के दौरान हुआ। हंगामे के बाद राजद विधायकों ने सम्मेलन का बहिष्कार कर दिया।
हंगामे को रोकने के लिए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने राजद विधायकों से शांत रहने को कहा। उन्होंने कहा कि यह बिहार विधानसभा नहीं है। आपलोगों को यहां अतिथि के रूप में बुलाया गया है। आप अतिथि की तरह पेश आएं। बाद में बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी को यहाँ तक कहना पड़ा कि जिन्हें यह कार्यक्रम पसंद नहीं आ रहा हैं, वह यहां से चले जाएं।


सम्मेलन में सुशील मोदी ने राजनीति में भ्रष्टाचार का जिक्र करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार रोकने के लिए भारत में भ्रष्टाचार के खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है। केंद्र की भाजपा सरकार और राज्य सरकारें इस मामले में मिलकर काम कर रही हैं। इससे विधायिका की विश्वसनीयता मजबूत हुई है। यहां बैठे आप सब लोगों को पता ही होगा कि इस समय भ्रष्टाचार के केस में देश के चार पूर्व मुख्यमंत्री किसी न किसी जेल में बंद हैं। हम सबका दायित्व बनता है कि अपने सार्वजनिक जीवन को जीतना हो सके पारदर्शी बनाएं।
सुशील मोदी ने जैसे ही कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में सजा पाकर चार पूर्व मुख्यमंत्री जेल में बंद हैं, राजद विधायकों ने हंगामा कर दिया, सभी विधायक नारे लगाने लगे। हाँलाकि हंगामे के बीच सुशील मोदी बोलते रहे, लेकिन राजद नेताओं का गुस्सा शांत नहीं हुआ। हंगामे को रोकने के सारे प्रयास विफल रहे और हंगामे के बाद राजद विधायकों ने सम्मेलन का बहिष्कार कर दिया।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...