अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद को मध्यस्थता के जरिए सुलझाने के सुप्रीम कोर्ट के हालिया आदेश के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने रविवार को कहा कि जब तक अयोध्या में राम मंदिर नहीं बन जाता, हमारा आंदोलन जारी रहेगा.
RSS के महासचिव भैय्याजी जोशी ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण पर कहा कि 1980-90 से जो आंदोलन चल रहा है, जब तक पूरा नहीं होगा तब तक हमारा आंदोलन चलता रहेगा. हम न्यायालय से उम्मीद करते हैं कि जल्द से जल्द इस संबंध में अपना फैसला दें.
उन्होंने इसी के साथ मौजूदा केंद्र सरकार पर भरोसा जताते हुए कहा वे भी चाहते हैं कि अयोध्या में राम मंदिर बने. उन्होंने कहा कि हम मानते हैं कि सत्ता में बैठे हुए लोगों को भी राम मंदिर का विरोध नहीं है, उनकी प्रतिबद्धता को लेकर हमारे मन में कोई शंका नहीं है.
ज्ञात है कि उच्चतम न्यायालय ने राजनीतिक दृष्टि से संवेदनशील दशकों पुराने राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद का सर्वमान्य समाधान खोजने के लिये दो दिन पूर्व 8 मार्च को शीर्ष अदालत के पूर्व न्यायाधीश एफएमआई कलीफुल्ला की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय मध्यस्थता समिति गठित कर दी है. समिति में आध्यात्मिक गुरु और आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर और प्रख्यात मध्यस्थ एवं वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीराम पांचू भी शामिल हैं. इस समिति को आठ सप्ताह के भीतर मध्यस्थता की कार्यवाही पूरी करनी है।
तीनों ही मध्यस्थ तमिलनाडु के रहने वाले हैं, जहां अयोध्या विवाद का कोई कुछ खास प्रभाव नहीं है. संविधान पीठ में चीफ जस्टिस आफ इण्डिया के अलावे के अन्य सदस्यों में न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर शामिल हैं.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *