राजस्थान में एक विधायक व एक पूर्व राज्य मंत्री के घर में आग लगाने के बाद कर्फ्यू, 40 लोग गिरफ्तार

 72 


राजस्थान के करौली जिले के हिंडौन कस्बे में लगभग पांच हजार लोगों की उग्र भीड़ ने वर्तमान भाजपा विधायक राजकुमारी जाटव और कांग्रेस के पूर्व राज्य मंत्री भरोसे लाल जाटव के घर में आग लगा दी. एससी/एसटी एक्ट में सुप्रीम कोर्ट के बदलाव वाले फैसले के खिलाफ दलित संगठनों द्वारा 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान देश भर में दलितों ने धरना प्रदर्शन किया तथा प्रदर्शनकारियों ने कई जगह ट्रेन ट्रैक और सड़कें जाम की थी. राजस्थान, मध्यप्रदेश, यूपी, बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड, पंजाब आदि कई राज्यों से हिंसा की खबरें भी आईं थीं.


हिंडौन कस्बे में विधायक और पूर्व विधायक के घर में आगजनी की घटना के बाद कस्बे में कर्फ्यू लगा दिया गया. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ला एंड आडर) एन आर के रेड्डी के अनुसार कुछ लोगों ने हिंडौन सिटी में जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया, भीड़ को तीतर-बितर करने के लिये पुलिस ने लाठीचार्ज किया, आंसू गैस के गोले छोडे़ और रबड़ की गोलियां चलाई. करौली पुलिस अधीक्षक अनिल कायल ने बताया कि आगजनी और पथराव की घटना के बाद लगभग चालीस लोगों को हिरासत में लिया गया.
दलित समुदाय की मौजूदा विधायक राजकुमारी जाटव भाजपा नेता हैं, जबकि पूर्व राज्य मंत्री भरोसे लाल जाटव कांग्रेस नेता हैं. इलाके में धारा 144 लागू होने के बावजूद सोमवार को हुई हिंसा के जवाब में मंगलवार सुबह से ही यहां भारी भीड़ जमा होने लगी. करौली जिले के हिंडौन में सोमवार को दुकान और वाहन जलाए जाने के खिलाफ लोगों ने आज बंद का आह्वान किया था. इसी दौरान भीड़ ने करौली से वर्तमान भाजपा विधायक राजकुमारी जाटव और पूर्व कांग्रेस विधायक भरोसीलाल जाटव के घर को निशाना बनाया और आग लगा दी. भीड़ ने यहां एक मॉल में भी आग लगा दी.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *