दिल्ली-पटना राजधानी एक्सप्रेस में बक्सर के पास सुबह करीब 3.15 बजे लूटपाट की घटना सामने आई। मामले में RPF के एक सब-इंस्पेक्टर एवं 6 कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है। रेलवे ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।
राजधानी एक्सप्रेस की एसी 2 और एसी 3 बोगियों को टारगेट करके की गई इस लूटपाट में अपराधी लाखों का सामान ले गए हैं। यही नहीं हमलावरों ने लूटपाट करने के साथ ही यात्रियों से मारपीट भी की। जिसमें तीन यात्री घायल हो गए हैं।
लूटपाट कांड मामले में एस्कॉर्ट टीम का हिस्सा रहे आरपीएफ कर्मियों को कर्तव्यों में लापरवाही बरतने के लिए निलंबित कर दिया गया है। पीड़ितों के शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है। इस मामले में जांच शुरू कर दी गई लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।




रेल मंत्री सुरेश प्रभू ने ट्वीट किया कि रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को इस मामले में बिहार के मुख्य सचिव से बात करने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही आरपीएफ के डीजी और बिहार पुलिस के डीजी के साथ मिलकर ट्रेन में लूटपाट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया है।
यहां सबसे अहम सवाल यह है कि आखिर लूटेरे ट्रेन में घुसे कैसे? इसको लेकर दो बातें सामने आ रही हैl पहली यह कि ट्रेन जब मुगलसराय स्टेशन पर रुकी तो उसी वक्त अपराधी ट्रेन में सवार हो गए हैं और गहमर के पास आकर उन्होंने लूटपाट की घटना को अंजाम दिया और घटना को अंजाम देने के बाद लूटेरे मुगलसराय से तकरीबन 60 किलोमीटर दूर भदौरा रेलवे स्टेशन पर उतर गएl दूसरी बात यह कि गहमर रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन किसी तकनीकी खराबी की वजह से रुकी हुई थी उसी वक्त अपराधी ट्रेन में सवार हुए और लूटपाट की घटना को अंजाम दियाl
ट्रेन सुबह तकरीबन 6:30 बजे पटना रेलवे स्टेशन पहुंची तो यात्रियों ने पटना जीआरपी में इसको लेकर FIR दर्ज कराया तथा जिन यात्रियों के साथ लूटपाट हुई थी उन्होंने पटना रेलवे स्टेशन पर जमकर हंगामा मचाया जहाँ उनकी आरपीएफ जवानों के साथ झड़प भी हुयीl



loading…



Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *