फिल्म स्टार रजनीकांत अपनी राजनीतिक पार्टी लॉन्च कर BJP के साथ मिलकर 2019 का लोक सभा चुनाव लड़ सकते हैं। बेंगलुरु स्थित एक एजेंसी रजनीकांत की राजनीतिक पारी की शुरुआत में मदद कर रही है।
एजेंसी तमिलनाडु में मतदाताओं के अब तक के रुझान और उन्हें सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाले मुद्दों का अध्ययन कर रजनीकांत की राजनीतिक पारी की शुरुआत में मदद कर रही है। रजनीकांत ने आठ साल के अन्तराल पर 15 मई से 19 मई तक अपने प्रशंसकों से मुलाकात के दौरान संकेत दिया था कि वो अपनी राजनीतिक पार्टी लॉन्च कर सकते हैं।
उधर BJP भी काफी समय से इस सुपरस्टार को अपने साथ लेन के प्रयास में लगी है। पार्टी ने रजनीकांत को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात का भी निमंत्रण दिया है। बताया जाता है कि BJP ने रजनीकांत को नई पार्टी बनाने में मदद करने की भी पेशकश की है। सूत्रों के अनुसार रजनीकांत दूसरों दलों के कुछ नेताओं के नाम पर भी विचार कर रहे हैं जिन्हें वो अपने नये दल में शामिल कर सकते हैं।

इन नेताओं में तमिलनाडु के पूर्व शिक्षा मंत्री मा फोई पंडीराजन शामिल हैं जो AIADMK के ओ पन्नीरसेल्वम और वीके शशिकला धड़े में बंट जाने के बाद पन्नीरसेल्वम धड़े के साथ चले गए थे। DMK नेता एस जगतरक्षन भी ऐसे नेताओं में शामिल माने जा रहे हैं जो रजनी की पार्टी में जा सकते हैं। जगतरक्षन दो बार सांसद रहे हैं और केंद्र की यूपीए सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। चेन्नई स्थित AIADMK के बड़े नेता और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता के त्यागराजन भी इस सूची में शामिल माने जाते हैं।
रजनीकांत चाहते हैं कि उनकी पार्टी कम से कम 10 प्रतिशत वोट बैंक के साथ राजनीतिक पारी शुरू करे इसीलिए वो दूसरी पार्टी के लोकप्रिय नेताओं को अपने साथ जोड़ना चाहते हैं। सुपरस्टार रजनीकांत को पता है कि केवल लोकप्रियता के दम पर चुनावी जीत हासिल करना आसान नहीं है, इसलिए वो ठोस रणनीति के साथ ही राजनीति में उतरना चाहते हैं। बताया जाता है कि एस गुरुमूर्ति रजनीकांत का मार्गदर्शन कर रहे हैं।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें

loading…

Loading…





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *