यह तो होना ही था, बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से होये : सुशील मोदी

 88 


रांची में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट द्वारा चारा घोटाले के एक दूसरे मामले में लालू प्रसाद को दोषी करार दिए जाने के तुरंत बाद भाजपा के वरिष्ट नेता एवं बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट किया कि- ‘जो बोया वो पाया!बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से होई। यह तो होना ही था’
सुमो ने इसके बाद एक विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि चारा घोटाले के एक दूसरे मामले में लालू प्रसाद को दोषी करार दिए जाने पर एक याचिकाकर्ता के तौर पर मुझे कोई आश्चर्य नहीं हुआ। मेरे, शिवानंद तिवारी और ललन सिंह द्वारा इस मामले में इतने पुख्ता प्रमाण दिए गए थे कि यह तो होना ही था। सजायफ्ता लालू प्रसाद सुधरने वाले नहीं हैं। अभी तो दो मामले में दोषी करार दिए गए हैं अन्य मामलों में भी सजा से नहीं बच सकेंगे।
साथ ही कोर्ट का निर्णय उन राजनेताओं के लिए चेतावनी है, जो दलित, पिछड़ों व अकलियतों का नाम लेकर अवैध और बेनामी सम्पति का अम्बार खड़ा करते हैं। चारा घोटाले के सजायफ्ता होने के बावजूद लालू प्रसाद ने कोई सबक नहीं लिया और ‘लारा’ घोटाले को अंजाम दिया, यानी अपने तो डूबे ही पत्नी, बेटे, बेटी और दामाद तक को नहीं छोड़ा।
चारा घोटाले से अगर सबक लिए होते तो रेलमंत्री के नाते बेनामी सम्पति एकत्र करने के अलग-अलग तरीके इजाद नहीं किए होते। कभी गिफ्ट तो कभी वसीयत के जरिए जमीन-मकान हथिया लिया। फैसला आने के पहले न्यायालय में भरोसा जताने वाले लालू प्रसाद को सीबीआई स्पेशल कोर्ट के फैसले को सहर्ष स्वीकार करना चाहिए और राजद के नेताओं को न्यायालय के खिलाफ ऊलूल-जुलूल बयान देने से रोकना चाहिए।
data-ad-slot=”2847313642″

यह फैसला भ्रष्टाचारियों के लिए सबक : भाजपा
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि- ”यह फैसला मेरे लिए पर्सनल अहमियत रखता है। क्योंकि 90 के दशक में मैंने पटना हाईकोर्ट में दायर पीआईएल पर बहस की थी। तब बिहार सरकार ने सीबीआई जांच का जमकर विरोध किया था। आज लालू यादव के फैसले से एक सबक मिलता है कि अगर आपने भ्रष्टाचार किया तो कानून का शिकंजा जरूर कसेगा।”
केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि- ”कांग्रेस और लालू यादव के बीच भ्रष्टाचार का गठबंधन है। दोनों देश की जनता को धोखाधड़ी कर लूट रहे हैं। लालू कोर्ट के फैसले को मानने की बजाय बीजेपी पर साजिश का आरोप लगाकर इसे राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं।”
बिहार की राजनीति से एक अध्याय खत्म हुआ : जदयू
जदयू नेता केसी त्यागी ने कहा कि- ”मैं अदालत के फैसले का स्वागत करता हूं। देवघर के मामले में कई लोगों को सजा हो चुकी है। इनको होनी थी। बिहार में आज राजनीति का एक अध्याय खत्म हो रहा है। जेपी के आंदोलन से इनकी राजनीति शुरू हुई थी। कई चुनाव जीतने के बाद अब आरजेडी खत्म होने की ओर है।”

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...