मौत का दूसरा नाम है ये 4 दवाइयां, विदेशों में तो बैन है लेकिन अपने भारत में हर इंसान खाता है

 119 


हर किसी को मालूम है कि भारत का कानून बहुत ही लचीला है। इसे कोई भी तोड़-मरोड़ कर अपने तरीके से यूज़ कर लेता है। इसलिए तो हर वो चीज जो विदेशों में बैन होती हैं वो भारत में लीगली चल रही हैं। फिर चाहे कोई साबु हो या दवाई। आज हम आपको कुछ ऐसी दवाईयों के बारे में बताने जा रहे हैं जो विदेशों में तो बैन है लेकिन हम भारतीय खाने की तरही इनका सेवन कर अपनी जान को जोखिम में डाल रहे हैं।

डिस्प्रिन
डिस्प्रिन एक दर्द निवारक दवा जो विदेशों में नहीं ये दर्द निवारक गोली विदेशों में मानकों पर खरी नहीं उतरी, इसलिए वहां इसे बैन कर दिया गया।

डीकोल्ड
कोल्ड और फ्लू ठीक करने वाली ये गोली आपको किडनी से रिलेटेड बीमारियां दे सकती है। इसलिए इसे विदेशों में बैन कर दिया गया है।

विक्स
विक्स को यूरोपियन देशों में इसलिए बैन किया गया है क्योंकि उनका मानना है कि विक्स स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक है। लेकिन भारत में यह हर मेडिकल स्टोर और जनरल स्टोर रूम पर उपलब्ध है। और भारतीय लोग इसे बड़े चाव से खाते हैं।

निमुलिड
निमुलिड भी भारत में कॉमन पेन किलर है, बदन दर्द होने पर लोग डॉक्टर की बजाय पेन किलर लेने भागते हैं। यह दवा अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेने और ऑस्ट्रेलिया जैसे कईं देशों में इस दवा पर बैन लगाया गया है, क्यूंकि ये दवा लीवर के लिये बहुत घातक होती है।

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *