मैं अभी भी गठबंधन में ही हूं : शरद यादव

 74 


जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पार्टी के वरिष्ठ नेता शरद यादव अपने तीन दिन की यात्रा पर अाज पटना पहुंचते ही जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि मैं गठबंधन में था और रहूंगा.
दोपहर 12 बजे के बाद पटना पहुंचे शरद यादव ने कहा कि यह जो तीन दिनों का दौरा है, इसके बारे में मेरी कोई तैयारी नहीं है, मैंने एक-दो जदयू नेताओं से बात की है. उन्होंने कहा कि बिहार के 11 करोड़ लोगों के विश्वास पर आघात हुआ है. लोगों को चोट पहुंची है. उन्होंने कहा कि हम यहां किसी को कुछ नहीं कहेंगे. जिस जनता ने गठबंधन बनाया था, वह ईमान का गठबंधन था, वह करार टूटा है. हमको तकलीफ है. उन्होंने कहा कि मैंने बिहार में 40 साल दौरा किया है. चुनाव के दौरान डेढ़ महीने तक बिहार में रहकर महागठबंधन के साथियों के लिए प्रचार किया. बिहार में दो ऐसी पार्टिया जिनके घोषणा पत्र अलग-अलग थे. उन्होंने आमने-सामने लड़ाई की और वह बीच में ही मिल गये. यह लोकतंत्र में विश्वास का संकट है. संकट को जनता के बीच जाकर देखूंगा. मैं गठबंधन के साथ मैं खड़ा हूं. जनता के पास जा रहा हूं, ताकि गठबंधन बना रहे.
शरद यादव के साथ उनके समर्थक और कुछ नेता मौजूद रहे. बिहार सरकार में पूर्व मंत्री और जदयू नेता रमई राम शरद यादव के बिल्कुल पीछे खड़े रहे. जानकारी के मुताबिक मुजफ्फरपुर जदयू के जिलाध्यक्ष ने रमई राम पर कार्रवाई की अनुशंसा करते हुए पार्टी के प्रदेश नेतृत्व को पत्र भी भेज दिया है. उधर शरद यादव को राजद कार्यकर्ताओं का जबरदस्त समर्थन मिल रहा है. पटना एयरपोर्ट पर शरद की आगवानी में सैकड़ों की संख्या में राजद कार्यकर्ता पहुंच गये. बताया जा रहा है कि सबसे ज्यादा राजद कार्यकर्ता ही एयरपोर्ट पर मौजूद थे, जदयू के भी कुछ कार्यकर्ता मौजूद थे. कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी करते हुए कहा कि जो हिटलर की तरह राज करेगा, वह हिटलर की तरह मरेगा. शरद यादव के साथ राजद विधायक रामानुज भी पटना से हाजीपुर पहुंचे, जहाँ रामाशीष चौक पर शरद यादव का संवाद कार्यक्रम आयोजित है.


इसके जवाब में जदयू नेता अजय आलोक ने कहा कि पार्टी अालाकमान से गुजारिश है कि पार्टी विरोधी बयान देने पर शरद यादव पर कार्रवाई करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि शरद यादव से पार्टी को एेसे बयान की उम्मीद नहीं थी. एेसे बयान पार्टी के खिलाफ है और शरद जी ने खुद ही कह दिया है कि मैं पार्टी में नहीं. जदयू नेता नीरज कुमार ने जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष पर आरोप लगाया कि शरद यादव की बिहार यात्रा लालू प्रसाद के रिमोट क्ंट्रोल से चल रहा है. उन्होंने हमला तेज करते हुए कहा कि लालू यादव और शरद यादव मिलकर लोगों को बेवकूफ बनाने की कोशिश कर कर रहे हैं, लेकिन जनता सबकुछ जानती है उसे ये लोग मूर्ख नहीं बना सकते.
शरद यादव पार्टी के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं, उन्होंने अपनी यात्रा की जानकारी पार्टी को नहीं दी है, इस वजह से पार्टी उनपर बड़ी कार्रवाई कर सकती है. वहीं प्राप्त जानकारी के मुताबिक जदयू ने एक नोटिस भी जारी किया है जिसमें कहा गया है कि जो भी कार्यकर्ता शरद यादव के कार्यक्रम में जाएगा उसपर पार्टी कड़ी कार्रवाई होगी.
बिहार में जदयू और राजद का रिश्ता टूटने के ठीक बाद जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव महागठबंधन टूटने से नाराज हो गये और जदयू में अंदरखाने ही खींचतान मच गयी. शरद के करीबी अरुण श्रीवास्तव को पार्टी पहले ही हटा चुकी है. पार्टी शरद यादव को राज्यसभा के नेता पद से हटा सकती है, पार्टी व्हिप का उल्लंघन करने पर उनकी सदस्यता जा सकती है. उनकी जगह किसी नये नेता का चुनाव हो सकता है. शरद यादव बिहार में तीन दिवसीय यात्रा में पटना, सोनपुर, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, मधुबनी, सुपौल, सहरसा और मधेपुरा की यात्रा में लोगों से वर्तमान राजनीतिक हालात पर रायशुमारी करेंगे और अपने विचार रखेंगे. उन्होंने समान विचार वाले दलों और नेताओं की 17 अगस्त को दिल्ली में बैठक भी बुलायी है.
बुधवार को लालू यादव ने कहा था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शरद के खिलाफ साजिश रच रहे हैं, पटना एयरपोर्ट से बाहर निकलते वक्त कुछ लोगों द्वारा शरद यादव पर चप्पल, पानी के बोतल आदि फेंके जाएं, नीतीश कुमार खतरे से खेल रहे हैं. उन्होंने कहा था कि शरद यादव के नेतृत्व वाली जदयू और कांग्रेस के साथ हमारा गठबंधन जारी रहेगा. राजद सुप्रीमो ने कहा था कि नीतीश कुमार हताश और निराश हैं. मुख्यमंत्री किस केस की बात करते हैं. उन पर तो 302 का केस दर्ज है. दिल्ली हाइकोर्ट ने उन पर जुर्माना लगाया है उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देनी चाहिए. राजनैतिक लालच भ्रष्टाचार से भी ज्यादा खतरनाक है. नीतीश कुमार ने सत्ता के लिए चार बार पलटी मारी. गांधी जी की मूर्ति के सामने देश को संघ मुक्त करने की कसम खाई थी और अब वे खुद पलटी मारकर भाजपा की गोद में चले गये. नीतीश कुमार की पार्टी सरकारी पार्टी है वह आरएसएस व भाजपा की बी टीम है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *