पचास से अधिक आंदोलनकारी शिक्षकों ने उत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कर लौट रहे छह शिक्षकों को मुजफ्फरपुर में दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। आंदोलनकारी शिक्षक लाठी-डंडे से लैस थेl
मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार कर रहे आंदोलनकारी शिक्षकों द्वारा मुजफ्फरपुर जिला समाहरणालय से लेकर स्टेशन तक निजी शिक्षकों की जमकर पिटाई की गयी जिससे 6 शिक्षक गंभीर रूप से घायल हुए। घटना से आक्रोशित निजी स्कूल के शिक्षकों ने दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा किया।

जिला प्रशासन के आदेश पर निजी स्कूल के शिक्षक भी मूल्यांकन कार्य में लगे हैंl द्वारिका नाथ हाईस्कूल में मूल्यांकन कार्य समाप्त होने के बाद शाम में सभी शिक्षकों को प्रशासन ने अपनी गाड़ी से जिला समाहरणालय परिसर पहुंचाया था। जहाँ से सभी शिक्षक अपनी बाइक लेकर आवास के लिए निकले। इसी दौरान लाठी-डंडे से लैस लगभग पचास की संख्या में आंदोलनकारी शिक्षकों ने इन पर हमला कर दिया।
मारपीट के दौरान शिक्षक गौतम कुमार की पाकेट से सात हजार रुपए, ड्राइविंग लाइसेंस समेत कई अहम कागजात निकाल लिए गये।
घायल शिक्षकों में गौतम कुमार के अलावे मुरलीधर सिंह, धनुषधारी प्रसाद, सुधांशु कुमार, मनीष कुमार एवं हृदयेश कुमार शामिल हैं। घायल शिक्षकों का इलाज सदर अस्पताल में कराया गया। हमले में किसी के सिर, छाती, पेट में, किसी की आंख में गंभीर तो किसी शिक्षक की छाती व पीठ पर चोट आई है।

घायल शिक्षक गौतम कुमार के अनुसार जिस वक्त आंदोलनकारी शिक्षकों ने समाहरणालय परिसर में हमलोगों पर हमला किया उस समय गुहार लगाने के बाद भी वहाँ मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने कोई मदद नहीं की। नगर थाने में घटना को लेकर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना एवं निजी स्कूल के शिक्षकों ने अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज कराई है। नगर डीएसपी आशीष आनंद के अनुसार सीसीटीवी के आधार पर मारपीट करने वालों की पहचान करने का निर्देश दिया गया है।

loading…



Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *