UP के एक गांव में हिंदू-मुस्लिम ने आपसी सौहार्द की मिसाल पेश करते हुए मंदिर और मस्जिद से खुद ही लाउडस्पीकर उतारकर पुलिस को सौंप दिया है। इन लोगों की आस-पास के गांव में भी चर्चा हो रही है।
जानकारी के अनुसार मुरादाबाद के भगतपुर थाना के थिरियादान गांव अक्सर सांप्रदायिक वजहों से खबरों में रहता है। अक्सर छोटे विवादों के बाद यहां माहौल गर्मा जाता है।यहां के सांप्रदायि‍क माहौल को लेकर लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (LIU) ने भी शासन को रिपोर्ट भेजी थी। वहीं, पीस कमेटी की बैठक में भी इस गावं का मुद्दा गर्माया था।

इस बार गांव वालों ने ग्राम प्रधान सुनीता रानी की मौजूदगी में गांव की एक पंचायत बुलाई और पूरे गांव ने यह सहमति जताई कि अक्सर लाउडस्पीकर को लेकर होने वाले विवाद को यहीं खत्म करते हैं।
इस पंचायत में यह कहा गया कि गीता हो, रामायण हो या कुरान किसी में भी यह नहीं लिखा कि ऊपर वाले की इबादत लाउडस्पीकर से ही होनी चाहिए।
इस पंचायत के बाद हिन्दू और मुस्लिमों ने अपने अपने धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर उतार लिए और आने वाले समय में भी किसी भी धार्मिक कार्य में इसका प्रयोग वर्जित कर दिया। दोनों पक्षो ने यह बात लिखित रूप से थाने में भी दे दी है।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें

loading…

Loading…





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *