मानुषी छिल्लर बनीं मिस वर्ल्ड

 88 


भारत की मानुषी छिल्लर ने 108 कॉन्टेस्टेंट्स को पीछे छोड़कर मिस वर्ल्ड 2017 बन गयी। हरियाणा में जन्मी 20 वर्षीय मानुषी सोनीपत के BPS मेडिकल कॉलेज में MBBS तृतीय वर्ष की छात्रा है। इंग्लैंड की स्टेफिनी हिल दूसरे नंबर पर रही और मेक्सिको की एंड्रिया मीज़ा दूसरी रनर अप हुयी।
मानुषी का जन्म हरियाणा के झज्जर जिले में बहादुरगढ़ के गांव बामनौली में हुआ। पिता मित्रवसु और मां नीलम दोनों ही डॉक्टर हैं। शुरुआती पढ़ाई दिल्ली के सेंट थॉमस स्कूल से करने वाली मानुषी की रुची डांस, म्यूजिक और मॉडलिंग में भी शुरू से है। मिस वर्ल्ड (2017), फेमिना मिस इंडिया (2017), मिस फोटोजेनिक का अवॉर्ड जीतने वाली मानुषी सितंबर 2016 में मिस हरियाणा बनी थी।
टॉप 5 में जगह बनाने के बाद 14 मई 1997 को जन्मी मानुषी से सवाल पूछा गया था कि आपको कौन सा प्रोफेशन ऐसा लगता है, जिसके लिए सबसे ज्यादा सैलरी दी जानी चाहिए और क्यों? उसने जवाब दिया- “मैं पैसे के बारे में नहीं सोचती। मुझे लगता है कि एक मां को सबसे ज्यादा सम्मान दिया जाना चाहिए, ऐसा इसलिए होना चाहिए क्योंकि मां किसी को प्यार और सम्मान देती है। मां जिंदगी की सबसे बड़ी प्रेरणाश्रोत है। उसे सबसे ज्यादा सम्मान मिलना चाहिए।”

इसके पूर्व एक इंटरव्यू के दौरान मानुषी ने कहा था कि- “मुझे ये विश्वास है कि जिंदगी में अगर कुछ निश्चित है तो वो है अनिश्चितता और यही चीज इस कॉन्टेस्ट को अमेजिंग बनाती है। मुझे पूरा भरोसा है कि मैं ये खिताब जीतूंगी।’
भारत ने इसे लेकर अबतक 6 बार मिस वर्ल्ड का खिताब जीता और इसके साथ ही उसने वेनेजुएला के 6 बार(1955,1981,1984,1991,1995,2011) इस खिताब को जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। भारत में सबसे पहले 1966 में रीता फारिया मिस वर्ल्ड बनी थीं। उसके 28 साल बाद 1994 में ऐश्वर्या राय, 1997 में डायना हेडन, 1999 में युक्ता मुखी और 2000 में प्रियंका चोपड़ा ने ये खिताब जीता था। इसके अलावे भारत के नाम 2 मिस यूनिवर्स का खिताब भी है। सबसे पहले 1994 में सुष्मिता सेन और फिर 2000 में लारा दत्ता ने ये खिताब जीता था।
कुछ समय पूर्व लारा दत्ता से सवाल पूछा गया था कि अब इंडिया वर्ल्ड ब्यूटी कॉम्पिटीशन क्यों नहीं जीत पा रहा है? तो लारा ने कहा था कि- “जब हमने खिताब जीता था और अब जिस तरह से कॉन्टेस्ट हो रहा है, चीजें काफी बदल गई हैं। मैंने और प्रियंका चोपड़ा ने जब खिताब जीते थे, तब से अब तक इस कॉन्टेस्ट का फॉरमेट काफी बदल गया है। इंटरनेशनल लेवल पर भी रिक्वायरमेंट बदले हैं और हमें उस हिसाब से खुद को बदलने की जरूरत है।’’

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *