दुनिया की बेहतरीन तेज गेंदबाजों में शुमार भारतीय महिला गेंदबाज झूलन गोस्वामी आज वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने वाली गेंदबाज बन एक महत्‍वपूर्ण उपलब्धि हासिल की हैl
झूलन ने दक्षिण अफ्रीका के पोटचेफस्ट्रूम में खेली जा रही चतुष्कोणीय सीरीज में दक्षिण अफ्रीका की रेसीबे नटोजाके को आउट करके 50 ओवरों के प्रारूप में अपना 181वां विकेट हासिल कर उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की कैथरीन फिट्जपैट्रिक का 109 मैचों में 180 विकेट के एक दशक से चले आ रहे रिकॉर्ड को अपने 153वें मैच में तोड़ाl
इस मैच में पहले बैटिंग करते हुए झूलन की धारदार गेंदबाजी के कारण दक्षिण अफ्रीकी टीम 119 रन बनाकर आउट हो गईl भारतीय महिला टीम ने मिताली राज के नाबाद 51 रन की मदद से शानदार प्रदर्शन करते हुए 41वें ओवर में ही सात विकेट से जीत हासिल कीl
पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के चकदाहा कस्बे की रहने वाली 34 वर्षीय झूलन ने 2002 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया थाl उन्हें वर्ष 2007 में ICC की वर्ष की महिला क्रिकेटर चुना गया थाl 25 नवंबर 1982 को जन्‍मी झूलन नादिया एक्‍सप्रेस के नाम से मशहूर है, जिसने दस टेस्ट मैचों में 40 विकेट और 60 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 50 विकेट लिए हैंl टेस्‍ट क्रिकेट में वे एक बार मैच में 10 विकेट लेने के कारनामे को भी अंजाम दे चुकी हैl
पांच फुट 11 इंच लंबी झूलन अपने कद के कारण गेंदों को अच्‍छी उछाल देने में सफल होती हैंl मां झरना और पिता निशित गोस्वामी की लाडली झूलन बचपन में लड़कों के साथ क्रिकेट खेला करती थीl तब बेहद धीमी गेंदबाजी करने के कारण उसका मजाक उड़ाया जाता था, इससे उन्हें तेज़ गेंदबाज बनने की प्रेरणा मिली और फिर जल्‍द ही अपनी गेंदों की गति से सबको चौंकने पर मजबूर कियाl झूलन गति के बावजूद अपनी लाइन-लेंथ पर नियंत्रण रखती हैl

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *