राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने बसपा सुप्रीमो मायावती को राज्य सभा चुनाव में मदद करने का आश्वासन देते हुए उनसे राष्ट्रपति चुनाव में मदद चाहा है।
लालू प्रसाद और मायावती के बीच लम्बी चली बात के बीच लालू ने मायावती से राष्ट्रपति चुनाव में मदद की मांग करते हुए बदले में राज्य सभा चुनाव में उनकी मदद करने का भरोसा दिया। इसी बीच लालू प्रसाद ने मायाबती को 27 अगस्त को पटना में होने वाली रैली में शामिल होने का आमंत्रण भी दिया।
लालू प्रसाद ने IT रेड के बाद भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और राष्ट्रपति चुनाव के बहाने महागठबंधन की तैयारी में लग गए हैं। अपने इसी अभियान के तहत लालू ने मायावती को अगले साल राज्यसभा की सीट पर सहयोग देने का वादा किया है।

लालू प्रसाद शुरू से ही मायावती को महागठबंधन में शामिल करने के प्रयास में लगे हुए हैं। बिहार चुनाव में जीत के बाद वे मायावती से सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की कई बार गुहार भी लगा चुके हैं। लेकिन मायावती ने उनकी कोशिश को सिरे से नकार दिया था।
UP चुनाव के बाद के माहौल में सपा और बसपा की तल्खी में भी कमी आई है, दोनों एक दूसरे के प्रति नरम दिखाई देने लगे हैं। रामगोविंद चौधरी भी लगातार विधानसभा के अंदर बसपा के साथ मिलकर योगी सरकार के खिलाफ लड़ने की बात कह रहे हैं। चुनाव के बाद बसपा सुप्रीमो के लिए राज्यसभा या विधानपरिषद की तमाम राहें बेहद मुश्किल हो गई हैंl बगैर अन्यों का समर्थन मिले उनका इन सदनों तक पहुंचना नामुमकिन हैl
अगले वर्ष उनकी राज्यसभा सदस्यता समाप्त हो रही है, उन्हें दोबारा निर्वाचित होने के लिए 37 विधायकों की जरूरत होगी, यही नहीं विधान परिषद सदस्य चुने जाने के लिए भी उन्हें कम से कम 29 विधायकों का समर्थन चाहिएl उनकी पार्टी को सिर्फ 19 सीटें ही मिली हैं।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें

loading…

Loading…





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *