देहरादून की रहने वाली 21 साल की भूमिका शर्मा मिस वर्ल्ड बॉडी बिल्डिंग चैम्पियन शिप जीतने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं।
वर्ल्ड अमेच्यर बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन (WABBA) के तहत इटली के वेनिस शहर में ऑर्गनाइज इंटरनेशल चैम्पियनशिप में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता।
भूमिका शर्मा देहरादून के ही एक प्राइवेट कॉलेज में सेकंड ईयर की स्टूडेंट हैं। उनकी मां हंसा मनराल इंडियन वुमन वेटलिफ्टिंग टीम की चीफ कोच हैं।
एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि मेरी बॉडी में काफी फैट था। एक वक्त ऐसा भी था, जब लोग मेरा मजाक उड़ाते थे, लेकिन मैंने जब खुद पर मेहनत कर बॉडी को टोन्ड कर लिया तो लोगों ने ऐसा करना बंद कर दिया।

कभी प्रोफेशनल शूटर बनने का सोचने वाली भूमिका ने एक जिम में ट्रेनर द्वारा दिखाए वर्कआउट के वीडियो को देखने के बाद बॉडीबिल्डिंग करने का फैसला किया।
वो एक दिन जिम में थी। उसी दौरान ट्रेनर ने लेडी बॉडी बिल्डर्स के वर्कआउट के वीडियो दिखाए। उससे पहले कभी भी किसी महिला की पुरुष जैसी बॉडी नहीं देखी थी। उसके बाद ही उन्हें इस बात का पता लगा कि यही वो चीज है, जिसे मैं वो चाहती हैं।
भूमिका का यहां तक पहुंचने का सफर काफी मुश्किलों भरा था, हालांकि उन्हें फैमिली का पूरा सपोर्ट था। ट्रेनिंग के पहले साल में वे नेक इंज्युरी का शिकार हो चुकी हैं।
बॉडीबिल्डिंग को हमेशा से मेल डॉमिनेट फील्ड माना जाता रहा। लेडी बॉडी बिल्डर्स में इसे लेकर काफी नेगेटिविटी है। एक वक्त वो भी काफी हताशा के दौर से गुजर चुकी हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading…

Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *