भारत में बनेंगे कामोव हेलीकॉप्टर, संयुक्त उद्यम के लिए हुआ करार

 76 


भारत और रूस के बीच कामोव सैन्य हेलीकॉप्टर के निर्माण के लिए भारत में संयुक्त उद्यम का पंजीकरण हुआ। भारत और रूस के बीच एक अरब डालर (करीब 6433 करोड़ रुपये) के सौदे के तहत कामोव सैन्य हेलीकॉप्टर का निर्माण भारत में किया जाएगा। इस सौदे के तहत भारत को मिलने वाले 200 कामोव हेलीकॉप्टर में से अधिकतर का निर्माण भारत में किया जाएगा।


रूस के अंतरराष्ट्रीय सहयोग और क्षेत्रीय नीति विभाग, रोस्टेक स्टेट कॉरपोरेशन के प्रमुख विक्टर निकोलायविच क्लादोव के अनुसार संयुक्त उद्यम का पंजीकरण मई में हो चूका है। रोस्टेक स्टेट कॉर्प रूस के 700 उच्च प्रौद्योगिकी वाले सैन्य और असैन्य कंपनियों का संगठन है। इसका गठन 2007 में किया गया। मॉस्को के नजदीक जुकोवस्की शहर में शुरू एयरशो एमएकेएस-2017 से पहले क्लादोव ने यह जानकारी फेटे हुए कहा कि हम यह जानकार बेहद खुश हैं कि संयुक्त उद्यम भारत में पंजीकृत हो गया।
पिछले वर्ष अक्टूबर में भारत और रूस ने हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड (HAL) और रूस की दो प्रमुख रक्षा कंपनियों के बीच संयुक्त उद्यम के लिए व्यापक करार को अंतिम रूप दिया गया था। भारत पुराने पड़ चुके चीता और चेतक हेलीकॉप्टरों को हटाने के लिए कामोव हेलीकॉप्टर ला रहा है। 2015 में हुए समझौते के तहत रूस 60 कामोव-226टी हेलीकॉप्टर चालू हालत में भारत को देगा जबकि 140 हेलीकॉप्टर का निर्माण भारत में होगा।

यह भी पढ़ें : नाग से मौत की लड़ाई लड़ा कुत्ता, वफादारी से बचा ली 7 जवानों की जिंदगियां
यह भी पढ़ें : राजस्थान में शादी का अनोखा कार्ड, छपवाए मोदी मिशन के नारे

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *