भारत माता की जय बोलेंगे शब्बीर शाह! जज बोले ये स्टूडियो नहीं

 98 


अलगाववादी नेता शब्बीर शाह की तरफ से पटियाला हाउस कोर्ट कहा गया कि वो संविधान में यकीन करते हैं, भारत के कानून पर भरोसा करते हैं.
दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में गुरूवार को मनी लॉन्ड्रिंग केस में अलगाववादी नेता शब्बीर शाह पर सुनवाई चल रही थी. सुनवाई के दौरान शब्बीर शाह के वकील ने कहा कि यह पूरा केस पॉलिटिकल है. शब्बीर शाह कश्मीर के नेता हैं, इसलिए उन्हें फंसाया जा रहा है. हम भारत के कानून पर भरोसा करते हैं. इसी दौरान यह भी कहा गया कि वो संविधान में यकीन करते हैं.
शब्बीर के वकील के इस बयान पर प्रवर्तन निदेशालय के वकील ने कोर्ट में कहा कि वो कानून पर कितना भरोसा करते हैं हमें पता है. अगर शब्बीर शाह को संविधान में यकीन है और वह देशभक्त हैं तो क्या भारत माता की जय बोलेंगे. इतना ही नहीं ED वकील ने आगे कहा कि अगर शब्बीर शाह देशभक्त हैं, तो वह यहां भारत माता की जय बोलें. शब्बीर शाह के वकील इस पर कुछ बोल पाते उससे पहले ही जज ने ED के वकील को डांटते हुए रोक दिया और कहा कि ये कोर्ट है, डिबेट के लिए TV स्टूडियो नहीं है.
मनी लॉन्ड्रिंग का केस झेल रहे अलगाववादी नेता शब्बीर शाह की गुरूवार को पेशी हुयी, कोर्ट ने 6 दिन की रिमांड और बढ़ी दी है. इससे पहले बुधवार को कोर्ट ने एक दिन के लिए शाह की रिमांड बढ़ाई थी.


सुनवाई के दौरान ED ने कोर्ट को एक “कॉस्फीडेंशियल” फाइल भी दी. इस फाइल में बताया गया है कि किन-किन लोगों से शब्बीर ने कैश में पैसा लिया. साथ ही शब्बीर के होटल और प्रॉपर्टी से जुड़े खातों से वो पैसा आगे भेजा गया. ED ने कोर्ट को बताया कि दस हज़ार से ज़्यादा मेल हैं, जिनकी जांच करनी है, साथ ही जिन लोगों को ये पैसे दिए गए, उनसे भी पूछताछ करनी है. ED ने ये भी बताया कि इसी पैसे से कश्मीर में पत्थरबाज़ी कराया गया.
दूसरी ओर शब्बीर शाह ने कोर्ट में अर्जी लगाई है कि उनकी जान को खतरा है. शब्बीर ने सुरक्षा की मांग की है. साथ ही कहा है कि उनके जो भी बयान ED ने दर्ज किए हैं, वो जबरदस्ती लिए हैं. शाह को 25 जुलाई को श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया था. जिसके बाद ED की टीम द्वारा उसे दिल्ली पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया था. कोर्ट ने शाह को 7 दिन की रिमांड में भेज दिया था.
दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने असलम वानी नाम के एक शख्स को 63 लाख की नकदी के साथ गिरफ्तार किया था. पुलिस का दावा था कि वानी के पास ये पैसा हवाला के जरिए मध्य एशिया से आया. असलम पर हवाला कारोबार से जुड़े होने और शब्बीर शाह को अलग-अलग वक्त पर कुल 2.25 करोड़ रुपये देने का आरोप था. जिसके बाद ED ने मनी लॉन्ड्रिग एक्ट के तहत शब्बीर शाह और असलम वानी के खिलाफ केस दर्ज किया.
पुलिस के पूछताछ में असलम वानी ने 63 में से 50 लाख रुपए शब्बीर शाह को देने की बात कबूली थी. पुलिस ने ये भी दावा किया था कि असलम को इनमें से 10 लाख रुपए श्रीनगर में जैश-ए मोहम्मद के एरिया कमांडर अबु बकर को देने थे. तमात खातों और ट्रांजैक्शन की जानकारी के लिए शाह से ED पूछताछ कर रही है. इस बात की भी आशंका है कि शाह हवाला के जरिए कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को उकसावा देता था.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *