भारत-इजारइल से जुड़े मुद्दों पर हुई बातचीत, दोनों के बीच हुए 9 करार

 132 


दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मोदी और नेतन्याहू के बीच बैठक में 9 मुद्दों पर करार हुए हैं. इस दौरान दोनों देशों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत हुई. बैठक के बाद साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में PM मोदी ने कहा कि हमारी चर्चा का उद्देश्य इस रिश्ते को नई ऊंचाई पर ले जाना रहा है. हमने मिलकर रक्षा क्षेत्र में सहयोग को आगे बढ़ाने का फैसला किया.
इससे पहले, इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को उनके दौरे के दूसरे दिन सुबह 10 बजे राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया. इस मौके पर राष्ट्रपति भवन में बेंजामिन नेतन्याहू को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. इस औपचारिक स्वागत के बाद बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि तरक्की के लिए भारत से दोस्ती है. मुलाकात के दौरान बेंजामिन नेतन्याहू ने प्रोटोकॉल तोड़कर अपने प्रतिनिधिमंडल का परिचय खुद PM मोदी से कराया. जबकि परंपरा के मुताबिक ये काम चीफ प्रोटोकॉल आफिसर कराते हैं.
राष्ट्रपति भवन में हुए स्वागत के बाद नेतन्याहू महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के लिए राजघाट गए. इसके बाद दोपहर 12 नेतन्याहू और पीएम मोदी के बीच द्विपक्षीय मुलाकात हुयी. नेतन्याहू का ये दौरा और छह महीने के अंदर दोनों नेताओं की गर्मजोशी भरी दूसरी मुलाकात महज एक रस्म या वादा नहीं, बल्कि दोनों देशों की रणनीतिक साझेदारी को नए पायदान पर ले जाने के इरादे का सबूत भी है.
दोनों देशों के बीच हुए 9 बड़े समझौते के समय राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, एस. जयशंकर, रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद रहे. दोनों देशों के बीच फिल्म निर्माण, साइबर सुरक्षा, तेल और ऊर्जा, कृषि, अंतरिक्ष के क्षेत्र में समझौते हुए हैं.
इस अवसर पर मोदी ने कहा कि भारत और इजरायल की दोस्ती 25 साल से मजबूत होती जा रही है. दोनों देशों के बीच में उम्मीद और भरोसे की पार्टनरशिप हुई है. हमारा ध्यान कृषि, विज्ञान और डिफेंस के क्षेत्र में इजरायली कंपनियों की टेक्नॉलोजी के साथ चलने का होगा. मैंने इजरायल की कई हथियार बनाने वाली कंपनियों को भारत में निवेश करने को कहा है. दोनों देशों ने अपने-अपने क्षेत्रीय समस्या से निपटने के लिए एक दूसरे का साथ देने की बात कही है. दोनों देशों में आगे बढ़ने की ललक है.
इजरायल के PM बेंजमिन नेतन्याहू ने इस मौके पर कहा कि PM मोदी एक क्रांतिकारी नेता हैं, उनके द्वारा किए गए स्वागत के लिए मैं उनका धन्यवाद करता हूं. हम दोनों की सभ्यता काफी पुरानी है. उन्होंने कहा कि भारतीय जवानों ने इजरायल के लिए अपनी जान दी. उन्होंने कहा कि इजरायल आने वाले मोदी पहले भारतीय PM बने, जब वो वहां पर आए ऐसा लगा कि कोई रॉक कॉन्सर्ट हो.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...