पाकिस्तान ने भारत के दो जवानों के शव के साथ जो बर्बरता की थी, उसका भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए पुंछ सेक्टर में पाकिस्तान की तीन चौकियों पर हमला करके उन्हें पूरी तरह तबाह कर डाला.
मीडिया खबरों के मुताबिक भारतीय सेना ने एलओसी के उस पार मौजूद पाक सेना की उन चौकियों को ध्वस्त कर दिया है जिनसे बॉर्डर एक्शन टीम के सदस्यों की घुसपैठ के लिए उनको कवर फायर दिया गया था.
भारतीय सेना ने जमकर फायरिंग कर पुंछ सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की तीन पोस्ट को तबाह कर डाला है. भारतीय सेना ने पाकिस्तान के किरपान और पिंपल पोस्ट पर निशाना साधा. सूत्रों को मुताबिक पाक की बॉर्डर एक्शन टीम की 647 मुजाहिद बटालियन ने एलओसी पर हुए हमले को अंजाम दिया था. बटालियन के सदस्यों की घुसपैठ के लिए पाक आर्मी की ओर से किरपान और पिंपल पोस्ट से कवर फायरिंग की गई थी. अब जवाब में भारतीय सेना ने भी पाक की उन चौकियों को ध्वस्त कर दिया है जिनसे ये कवर फायरिंग हुई थी.
गौरतलब है कि पाकिस्तान ने एक बार फिर अपना घिनौना चेहरा दिखाते हुए भारतीय जवानों के शव क्षत़-विक्षत कर दिए.पाकिस्तानी सेना ने सोमवार (1 मई) को सुबह सीजफायर का उल्लंघन करते हुए पुंछ में मोर्टार और रॉकेट दागे.
इस गोलीबारी में भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम ने भारतीय सीमा में घुसकर दो जवानों के शवों के साथ बर्बरता की. दूसरी तरफ भारत ने कहा कि पाकिस्तान की इस हरकत का वह माकूल जवाब देगा. अधिकारियों ने बताया कि विशेष बलों के दल बॉर्डर एक्शन टीम (बीएटी) ने पाकिस्तानी सैनिकों की भारी गोलाबारी के बीच पुंछ जिले के कृष्ण घाटी सेक्टर में इस हमले को अंजाम दिया.
सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि सेना के एक जवान और बीएसएफ के एक हेड कांस्टेबल के शवों को क्षत-विक्षत किया गया, लेकिन सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उनके सिर धड़ से अलग किए गए हैं.
मृतकों की पहचान बीएसएफ की 200वीं बटालियन के हेड कांस्टेबल प्रेम सागर और सेना की 22 सिख रेजीमेंट के नायब सुबेदार परमजीत सिंह के तौर हुई है. हमले में जख्मी हुए बीएसएफ बटालियन के कांस्टेबल राजिंद्र सिंह खतरे से बाहर हैं.
अधिकारियों ने बताया कि बीएटी की टीम ने भारतीय सैनिकों के गश्ती दल को निशाना बनाते हुए जाल बिछाया था. इस बीच पाकिस्तानी सेना ने भारत की दो अग्रिम रक्षा चौकियों (एफडीएल) को रॉकेट और मोर्टार बम हमलों में उलझाए रखा. सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘पाकिस्तान सेना का यह पूर्व नियोजित अभियान था. उन्होंने बीएटी को भारतीय क्षेत्र में 250 मीटर तक अंदर तक भेजा और हमला करने के लिए उसने लंबे वक्त तक घात लगाई.’

हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें…

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *