भारतीय इकोनॉमी बेहद मजबूत रास्ते पर चल रही है : IMF

 97 


इंटरनेशनल मॉनीटरी फंड (IMF) की चीफ क्रिस्टीन लेगार्द का कहना है कि भारत की इकोनॉमी बेहद मजबूत रास्ते पर चल रही है। लेगार्द ने नोटबंदी और जीएसटी को इकोनॉमी में सुधार के लिए ऐतिहासिक कदम बताते हुए कहा कि अगर इन सुधार के कदमों से कुछ वक्त के लिए थोड़ी मंदी आती है तो यह कोई आश्चर्य नहीं। भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली अमेरिका में वर्ल्ड बैंक और IMF की मीटिंग में हिस्सा लेने वाशिंगटन में हैं।
IMF ने कुछ दिन पहले ही 2018 के लिए GDP की रफ्तार 6.7 रहने का अनुमान लगाया था, जो 2016 के मुकाबले 0.3 फीसदी कम है। IMF ने GDP की रफ्तार कम रहने के पीछे नोटबंदी और GST जैसे कदमों को जिम्मेदार माना था।


लेगार्द के अनुसार उन्हें यकीन है कि भारत मीडियम और लॉन्ग टर्म में विकास के मजबूत रास्ते पर चल रहा है। ये पिछले कुछ साल के भीतर लिए गए सुधार के कदमों की वजह से है। भारत की इकोनॉमी का रास्ता आगे बेहद मजबूत है। हम उम्दीद करते हैं कि घाटा कम होने की वजह से महंगाई कम होगी। स्ट्रक्चरल रिफॉर्म रोजगार देंगे, जिसकी भारत की जनता खासतौर से युवा पीढ़ी को भविष्य में जरूरत है।
अरुण जेटली ने वहाँ दिए एक इंटरव्यू में कहा कि नोटबंदी और जीएसटी जैसे सुधारों को लागू करने के लिए पूरी दुनिया भारत की हिम्मत की दाद दे रही है। गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे बता देंगे कि लोग किसका सपोर्ट करते हैं। जीएसटी और नोटबंदी जैसे स्ट्रक्चरल रिफॉर्म्स पर दुनिया भर में एक्सपर्ट्स ने अपनी सकारात्मक राय दी है। इससे भारत की इमेज एक भरोसेमंद देश की बनी है। बीते 3 सालों को देखें तो कई देशों की इकोनॉमी में गिरावट आई है और उससे तुलना करें तो भारत बेहतर स्थिति में रहा है। इसका फायदा उठाते हुए नोटबंदी, जीएसटी जैसे सुधार किए गये। जिसके लिए काफी हिम्मत की जरूरत थी। वाशिंगटन में दुनियाभर से आए लीडर्स और इकनामिकल एक्सपर्ट्स सुधारों को लेकर भारत के हौसले की तारीफ कर रहे हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *