मध्य प्रदेश के बैतूल से भाजपा सांसद ज्योति धुर्वे जाति प्रमाण पत्र को लेकर बड़ी मुसीबत में घिर गई हैंl सांसद के जाति प्रमाण पत्र को हाई पावर छानबीन समिति ने निरस्त कर दिया हैl
सांसद बनने के बाद से ही ज्योति धुर्वे के जाति प्रमाण पत्र को लेकर संदेह बना रहा हैl आरोप है कि ज्योति धुर्वे गैर आदिवासी हैं जबकि आदिवासी होने के फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर वो बैतूल की आदिवासी रिजर्व सीट से सांसद बनी हैंl
ज्योति धुर्वे के आदिवासी नहीं होने को लेकर मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में मामला विचाराधीन हैl कोर्ट के आदेश पर आदिवासी विकास विभाग ने ज्योति धुर्वे के जाति प्रमाण पत्रों की जांच की थीl जांच में पाया गया है कि ज्योति धुर्वे का जाति प्रमाण पत्र 1984 में रायपुर के आदिवासी विभाग के संयोजक से बनवाया गया थाl बैतूल की ग्राम पंचायत चिल्कापुर के सत्यापन के आधार पर तत्कालीन भैसदेही तहसीलदार ने जाति प्रमाण पत्र जारी किया थाl सांसद ने छानबीन समिति के सामने जितने भी साक्ष्य प्रस्तुत किए उससे उनके आदिवासी जाति की होने की पुष्टि नहीं हो सकी हैl

loading…



Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *