भाजपा नेता विवादित बयान देकर मीडिया को मसाला न दें : PM

 71 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘नरेंद्र मोदी ऐप’ के जरिए भाजपा के सांसदों और विधायकों से बात करते हुए उन्हें मीडिया को ‘मसाला’ देने से बचने के लिए विवादित बयान देने से परहेज़ करने की नसीहत दी.
मोदी ने कहा कि हमारे नेता अक्सर ऐसे बयान देते हैं जो कई बार विवाद को जन्म दे देते हैं. कई संवेदशील मुद्दों पर मंत्रियों सहित कई पार्टी नेताओं को संवेदनहीन बयान देते हुए सुना गया है.
मोदी ने कहा कि हमने इधर गलती की और उधर मीडिया को मसाला मिला. जब हम कैमरा देखते हैं तो बयान देने के लिए उछल पड़ते हैं मानो हम बड़े समाज विज्ञानी या उस विषय के एक्सपर्ट हों और उसके बाद फिर मीडिया ऐसे बयानों का इस्तेमाल अपने ढ़ंग से करता है. यह मीडिया की गलती नहीं है. पीएम ने संवाद के दौरान सांसदों- विधायकों के सवालों के जवाब भी दिए.
इस संवाद में देश के कोने-कोने से सांसदों और विधायकों ने पीएम के सामने अपनी बात रखते हुए उनसे मार्गदर्शन मांगा. पीएम ने कहा कि अगर सांसद के अपने इलाके के 3 लाख लोग ट्विटर पर उन्हें (MPs) फॉलो करने लगें तो मैं इसी तकनीक के माध्यम से सीधे उनसे बातचीत करने को तैयार हूं. उन्होंने कहा कि समय देने में देर हो सकती है पर स्थानीय लोगों से सीधे बात करने में मुझे भी आनंद आएगा. आयुष्मान भारत का जिक्र करते हुए PM ने कहा कि सांसद-विधायक इस बात पर ध्यान दें कि कोई गलत नाम पात्रता सूची में न आने पाए, गरीब और मध्यम वर्ग को ही इसका लाभ मिले. उन्होंने बच्चों की पढ़ाई, बुजुर्गों की दवाई और युवाओं की कमाई पर फोकस करने का मंत्र देते हुए कहा कि इस समय देश के गरीबों को अर्थव्यवस्था से जोड़ने की जरूरत है. गरीब आदमी बैंक से लोन लेने के बाद कभी नहीं भागता है.
गांव के विकास के लिए अन्ना हजारे से सीख लेने को कहते हुए मोदी ने नेताओं से कम से कम एक गांव में बदलाव लाने के लिए खुद प्रयास करने के लिए भी कहा. PM ने कहा कि वह अपने संसदीय क्षेत्र में इस तरह के कार्यों को ध्यान से देख रहे हैं. इस सांसद में उन्होंने गांव की शक्ति को जगाने और विकास से उसे जोड़ने की बात कही. सांसदों और विधायकों को साफ-सफाई और टीकाकरण पर भी विशेष ध्यान देने को कहा.

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *