भागलपुर घोटाला : अवैध निकासी मुंबई तक गयी, रेड का सिलसिला जारी

 69 



DM के फर्जी हस्ताक्षर वाले चेक से 12 करोड़ 20 लाख 15 हजार 75 रुपये की सरकारी राशि के गबन के आरोप में सृजन महिला विकास सहयोग समिति के सभी पदधारकों और इस धोखाधड़ी में शामिल इंडियन बैंक की तिलकामांझी शाखा के दो शाखा प्रबंधकों के विरुद्ध कोतवाली थाने में धोखाधड़ी, वित्तीय अनियमितता और सरकारी राशि के गबन का आरोप लगाते हुए मंगलवार को प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. इसके दूसरे दिन सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड, इंडियन बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा पर दो और प्राथमिकी दर्ज की गयी.
प्राथमिकी में कहा गया है कि भू-अर्जन विभाग के एकाउंट से सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड में 270 करोड़ रुपये ट्रांसफर किये गये. जिला नजारत के खाता से भी 14 करोड़ 39 लाख 76 हजार छह सौ 43 रुपये का गबन सामने आया. इस मामले की जांच पटना से आर्थिक अपराध इकाई के आइजी जेएस गंगवार के नेतृत्व में चल रही है.
सूत्र बताते हैं कि विभिन्न लोगों से हुई पूछताछ में यह बात सामने आयी है कि सृजन संस्था के कार्यालय में कई नेताओं व विभिन्न संगठन के लोगों की बैठकी हुआ करती थी. आर्थिक अपराध इकाई व पुलिस के पदाधिकारियों की ऐसे लोगों पर भी नजर बनी हुई है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *