रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादीमिर पुतिन का एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है जो कई लोगों को यह सिखा सकता है कि शहीदों का सम्‍मान कैसे करना चाहिए।
गुरुवार को रूस ने ग्रेट पैट्रियॉटिक वॉर के दौरान शहीद हुए अपने उन सैनिकों को याद किया जिन्‍होंने नाजी सेना के खिलाफ लड़ते हुए अपनी जान दे दी थी। हर वर्ष 22 जून को यह दिन मनाया जाता है। इस मौके पर ही राष्‍ट्रपति पुतिन ने दुनिया के सामने कभी न भूलने वाला एक नजारा पेश किया है।

मॉस्‍को में क्रेमलिन में एक रेथलेयिंग सेरेमनी का आयोजन हुआ था जिसमें एलेक्‍जेंडर गार्डन के बाहर एक अज्ञात सैनिक के मकबरे पर श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर राष्‍ट्रपति पुतिन के अलावा कई ऑफिसर्स और रूस के प्रधानमंत्री दमित्रि मेदवेदेव भी मौजूद थे।
इस कार्यक्रम का आयोजन अपने तय समय के अनुसार ही हुआ और जैसे ही राष्‍ट्रपति पुतिन आए बारिश होने लगी। यहां पर किसी ऑफिसर के पास छाता नहीं था लेकिन राष्‍ट्रपति पुतिन अपनी जगह पर ही मौजूद रहे और उन्‍होंने शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

22 जून को रूस में सॉरो एंड मेमोरी डे होता है। यह दिन रूस को वर्ष 1941 से 1945 तक चले ग्रेट पैट्रियॉट वॉर की याद दिलाता है। इस दिन जर्मनी की नाजी सेना ने सोवियत संघ पर हमला कर दिया था। चार साल तक चले इस युद्ध में 26 मिलियन लोगों की मौत हुई थी और बड़ी संख्‍या में सैनिक मारे गए थे।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें


loading…

Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *