बिहार में NDA : किसी ने मास्टरस्ट्रोक कहा तो किसी ने मौकापरस्ती

 107 


बिहार का सियासी चेहरा चंद घंटो में ही बहुत तेजी से बदल गया. किसी ने इस घटनाक्रम को मास्टरस्ट्रोक कहा तो किसी ने मौकापरस्ती. महागठबंधन की सरकार से इस्तीफ़े के तुरंत बाद नीतीश कुमार ने भाजपा की मदद से गुरुवार सुबह दस बजे बिहार में छठी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली. शपथ ग्रहण के तुरंत बाद PM नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके नीतीश कुमार और सुशील मोदी को बधाई दी.
नीतीश पर वार करते हुए राजद सुप्रीमो लालू यादव ने कहा कि विनाश काले विपरीत बुद्धि, चारा घोटाला मामले में रांची की CBI अदालत में पेशी के लिए पहुंचे लालू यादव ने कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि वो सत्ता के बिना एक क्षण भी नहीं रह सकते हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री बनने का भी सपना देखा था, इनका सोचना था कि इनके जैसा हरिश्चन्द्र, ईमानदार कोई नही हैं, इसलिए सब इन्हें ही प्रधानमंत्री मान लें. जबकि अपने को साफ सुथरा और भ्रष्टाचार में जीरो टॉलरेंस कहने वाले नीतीश पर ही 302 को मुकदमा है.
लालू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार का इतिहास है कि वे सत्ता के लिये किसी के साथ भी समझौता कर सकते हैं. नीतीश कुमार ने जनता के साथ गद्दारी की है कि जिसके खिलाफ वोट लिया उसी के साथ जा मिले. लालू यादव ने उनके मुख्य मंत्री बनने पर सवाल उठाते हुए आंदोलन की बात कही. उन्होंने कहा कि विनाश काल में उनकी बुद्धि विपरीत हो गई है और वे गड्ढे में गिरते जा रहै हैं.
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बेहद उदासीन स्वरों में पुरे घटनाक्रम पर अफसोस जताते हुए कहा कि हिन्दुस्तान की राजनीति में यही प्रॉब्लम है. अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी कर जाते हैं. मैं पहले ही जान गया था कि महागठबंधन ज़्यादा देर तक नहीं चल पाएगा. जो जनादेश मिला था, वह सांप्रदायिकता के खिलाफ था.


UP के पूर्व CM अखिलेश यादव ने सीधे नीतीश कुमार पर ताना कसते हुए ट्विटर पर लिखा कि- ना ना करते, प्यार तुम्हीं से कर बैठे, करना था इंकार मगर इक़रार तुम्हीं से कर बैठे.
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार के DNA पर सवाल उठाया था. अब यह साबित हो गया कि जदयू व भाजपा का राजनीतिक DNA एक की है, वह है अवसरवाद.
कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने बिहार के घटनाक्रम को लेकर ट्वीट किया- एक बार फिर से बिहार में राज्यपाल ने सरकारिया कमीशन और सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन किया है. Single largest party RJD को मौका नहीं दिया गया है. BJP का प्रजातंत्र में विश्वास ना पहले था ना अब है. इस कृत्य के लिए धिक्कार है.
अपने ऊपर उठ रहे सवाल के बीच नीतीश कुमार ने पत्रकारों से कहा कि मेरी जवाबदेही बिहार के प्रति है और मैं वक्त आने पर सभी को जवाब दूंगा. शपथग्रहण के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि मैंने बिहार के हित में फैसला लिया है.
4 अप्रैल 2017 को सुशील कुमार मोदी ने लालू परिवार के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव पर मिट्टी घोटाले का पहला आरोप लगाया. इसके बाद सुशील मोदी एक-एक कर लालू यादव और उनके परिवार पर भ्रष्टाचार के नए नए आरोप लगाते रहे. कभी पटना में मॉल तो कभी बेनामी संपत्ति का. सुमो दस्तावेजों के साथ लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बड़े बेटे तेज प्रताप यादव, छोटे बेटे तेजस्वी यादव, बड़ी बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेष, लालू की छोटी बेटी नंदिनी और चंदा यादव पर लगातार हमला बोलते रहे. इन्हीं आरोपों और कागजातों के दम पर CBI और ED ने लालू परिवार पर शिकंजा कसना शुरू किया और केस दर्ज कर उनके कई ठिकानों पर छापा भी मारा.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *