बिहार बोर्ड परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे पहले उत्तर हुआ वायरल, कुल 12 गिरफ्तार

 64 


मैट्रिक परीक्षा के दौरान पहले और दूसरे दिन के प्रश्नपत्र लीक करने के मामले में सुपौल में एक गिरोह का पर्दाफाश हुआ, उधर खगड़िया के गोगरी में सोशल मीडिया पर सामाजिक विज्ञान का प्रश्न पत्र वायरल हो गया. दोनों मामलों में पुलिस ने कुल 12 युवकों को गिरफ्तार किया है. मामले में एक अधिकारी और एक शिक्षक का नाम भी आ रहा है जिसका खुलासा फिलहाल पुलिस नहीं कर रही है. बताया जा रहा है कि बुधवार से शुरू हुई मैट्रिक परीक्षा में अंग्रेजी के दोनों पर दोनों पारियों के प्रश्नपत्र लीक हो गए थे. व्हाट्स एप्प के माध्यम से ऑब्जेक्टिव के उत्तर एक दूसरे को वायरल किए जा रहे थे. शुरुआती चरण में प्रशासन और पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया.
सबसे पहले पुलिस ने सुपौल सदर थाना क्षेत्र से संजीत को पकड़ा और उसकी निशानदेही पर नीतीश को पकड़ा. दोनों ने बताया कि उन्हें लोहिया नगर चौक पर कोचिंग चलाने वाले वीरेंद्र ने आंसर भेजे थे. इसके बाद पुलिस ने वीरेंद्र को पकड़ा. बताया जा रहा है कि वीरेंद्र से पूछताछ के बाद बीरपुर थाना क्षेत्र के एक होटल से पुलिस ने पांच लड़कों को हिरासत में लिया है. बताया जा रहा है कि उस समय सभी लड़के होटल में बैठकर व्हाट्स एप्प पर प्रश्न और उसके उत्तर आने का इंतजार कर रहे थे. पकड़े गए लोगों के नाम कलानंद सिंह, कृष्ण मोहन सिंह, विकास कुमार, आनंद कुमार, और राजेश हैं.
बताया जा रहा है वीरपुर में पकड़े गए लड़कों के मोबाइल से दो व्हाट्स एप्प ग्रुप का पता चला है. इनमें से एक युवा एजुकेशन ग्रुप और दूसरा स्टार ग्रुप ऑफ पीपल है. इसी ग्रुप के माध्यम से प्रश्न पत्र लीक करने के बाद उसके आंसर वायरल किए जा रहे थे. शुरुआती जांच में एक बड़े अधिकारी का नाम भी सामने आ रहा है जो स्ट्रांग रूम से लेकर परीक्षा केंद्र के बीच कहीं से प्रश्न पत्र वायरल करते थे.
डीएम बैद्यनाथ यादव और एसपी मृत्युंजय कुमार ने मामले में कहा कि फिलहाल जांच की जा रही है, इसमें संलिप्त सभी लोगों को पकड़ा जाएगा.


उधर खगड़िया के गोगरी में सोशल मीडिया पर सामाजिक विज्ञान का प्रश्न पत्र वायरल हो गया. सूचना मिलते ही लोगों की भीड़ जमा हो गयी. पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मुंगेर के पीरपहाड़ी निवासी सुरेश मंडल के पुत्र अमोद कुमार, बड़हरा निवासी अजय शर्मा के पुत्र चन्दन प्रकाश, लदौरा अलौली निवासी रामनाथ यादव के पुत्र अवधेश कुमार और भिखारीघाट अलौली निवासी रामप्रवेश यादव के पुत्र कैलाश कुमार कुल चार युवकों को गिरफ्तार किया और उनके मोबाइल जब्त कर लिये. पुलिस इसके मास्टरमाइंड की खोज कर रही है. गिरफ्तार युवकों के पास से 6 मोबाइल जब्त किये गये.
गोगरी में व्हाट्सएप ग्रुप अमन, दिनेश और मैजिक ग्रुप पर प्रशन पत्र वायरल हो रहा था. इसका एडमीन विक्रम कुमार, धर्मराज कुमार तथा सुमित कुमार हैं. एडमीन द्वारा मोबाइल नंबर 9304899310, 9047156785 से प्रश्न पत्र वायरल किया जा रहा था. गुरुवार की सुबह 9:35 बजे ही सामाजिक विज्ञान के प्रश्नपत्र में पूछे गये ऑबजेक्टिव प्रश्न संख्या एक से लेकर 24 तक के उत्तर वायरल किये गये थे. आने वाले दिनों में इस मामले में अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी हो सकती है.
डीएम जय सिंह और एसपी मीनू कुमारी ने भी गोगरी थाना पहुंचकर गिरफ्तार युवकों से पूछताछ की. डीएम जय सिंह ने कहा कि परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे पहले प्रश्न पत्र और आनसर शीट वायरल की गयी थी. प्रश्न पत्र कहां से लीक हुआ, पता लगाया जा रहा है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...