बिहार बाढ़; मौत का आंकड़ा 304 के पार, 1.4 करोड़ लोग प्रभावित, बचाव- राहत कार्य जारी

 106 


बिहार में बाढ़ की भीषण त्रासदी ने मौत के आंकडे को 304 के पार पहुंचा दिया है. बाढ़ से 18 जिले के करीब 1.4 करोड़ लोग प्रभावित हैं. सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में अररिया, पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार, प चम्पारण, पूर्वी चम्पारण, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, सहरसा, सुपौल और खगड़िया शामिल हैं.
राज्य सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग के ताजे आंकड़ों के अनुसार सबसे ज्यादा 74 मौतें अररिया में हुई है. हाँलाकि अररिया, कटिहार, पूर्णिया और किशनगंज में नदियों का जलस्तर कुछ कम हो रहा है लेकिन दरभंगा, मुजफ्फरपुर और समस्तीपुर जिले में बाढ़ की स्थिति अभी भी काफी गंभीर बनी हुई है.
बागमती नदी में आई बाढ़ की वजह से कई गांव पूरी तरीके से जलमग्न हैं, कई गांव में 7 से 8 फीट तक पानी लगा हुआ है. लोग अपनी जान बचाने के लिए अपना घर बार छोड़कर यहाँ- वहाँ भागने को विवश हैं.


अब तक सात लाख से अधिक लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाकों से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा चूका है और 1358 राहत शिविरों में सवा चार लाख लोग शरण लिए हुए हैं. बाढ़ राहत शिविर के अतिरिक्त वैसे प्रभावित व्यक्ति जो राहत शिविरों में नहीं रह रहे हैं, उनके लिए सामुदायिक रसोईघर चलाए जा रहे हैं. कुल 2569 सामुदायिक रसोईघर चलाए जा रहे हैं.
एनडीआरएफ की 28 टीम के 1152 जवान 118 नौकाओं के साथ, एसडीआरएफ की 16 टीम 446 जवानों एवं 92 नौकाओं के साथ तथा सेना की 7 कॉलम के 630 जवान 70 नौकाओं के साथ बचाव एवं राहत कार्य में जुटे हुए हैं. बाढ़ प्रभावित वैसी आबादी जो पूरी तरह से पानी से घिरी है तथा उन्हें निकाला नहीं जा सका है, वहां हेलीकॉप्टर के जरिये खाने-पीने के सामान गिराए जा रहे हैं.
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं एवं बचाव तथा राहत कार्यों की मानिटरिंग कर रहे हैं. बिहार के 18 जिलों के बाढ़ प्रभावित होने के कारण पूर्व-मध्य रेल और पूर्वी सीमांत जोन में अभी भी रेल सेवाएं बुरी तरह बाधित हैं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *